मुजफ्फरपुर में खुलेगा 100 बेड का कैंसर अस्पताल : मंगल

0
186
file photo

स्वास्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि केंद्रीय परमाणु ऊर्जा विभाग और टाटा मेमोरियल अस्पताल के सहयोग से शीघ्र ही मुजफ्फरपुर में 100 बेड का कैंसर अस्पताल खोला जाएगा। पीएमओ के द्वारा 200 करोड़ रुपये निर्गत भी कर दिये गये हैं। यह अस्पताल अगले तीन साल में बन कर तैयार हो जाएगा। इसके शुरू होने के साथ ही मुजफ्फरपुर के कैंसर मरीजों को मुम्बई जाने की जरूरत नहीं होगी। कैंसर के इलाज को टाटा मेमोरियल अस्पताल के वरीय चिकित्सकों की देख रेख में उसी क्वालिटी के साथ इलाज शुरू प्रारम्भ कराया जाएगा। स्वास्य मंत्री श्री पांडेय आज राज्य स्वास्य समिति में आयोजित जमीन अंतरण के मौके पर संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की शतरे पर परमाणु ऊर्जा विभाग को नि:शुल्क जमीन अंतरण कराया गया है। शर्त के अनुसार जमीन का उपयोग नहीं होने पर स्वत: यह जमीन राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को लौट जाएगी। उन्होंने कहा कि इस अस्पताल के खुलने से उत्तर विहार के 21 जिलों की लगभग छह करोड़ की आबादी इलाज की सुविधा उठायेगी। श्री पांडेय ने कहा कि इसके पहले आईजीआईएमएस में 168 करोड़ की लागत से 100 बेड के कैंसर अस्पताल का हाल ही में शिलान्यास कराया गया है। टाटा मेमोरियल अस्पताल के सहयोग से श्रीकृष्ण चिकित्सा महाविद्यालय, मुजफ्फरपुर परिसर में खुलने वाले अस्पताल का शिलान्यास और निर्माण अगस्त के अंत तक प्रारम्भ हो जाएगा। टाटा मेमोरियल अस्पताल, मुम्बई में इलाज कराने वाले मरीजों को अब इलाज खर्च के लिए बिहार नहीं आना पड़ेगा। उनकी सुविधा को ध्यान में रख कर मुम्बई में ही हेल्प डेस्क खोला गया है। वहां के अधिकारी मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता के तहत मिलने वाली राशि तय कर टाटा मेमोरियल अस्पताल को मुहैय्या करा देंगे। स्वास्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि राज्य में कैंसर अस्पताल खोले जाने की जरूरत थी। राज्य में प्रति वर्ष 1.60 लाख लोग कैंसर के शिकार हो रहे हैं जबकि राज्य के अस्पतालों में इलाज की क्षमता महज 20 हजार मरीजों की ही थी। अब आईजीआईएमएस व एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में 100 बेड के अस्पताल खोले जाने के बाद इलाज की क्षमता भी बढ़गी और क्वालिटी भी मिलेगी। इस मौके पर बीएमएसआईसीएल के एमडी संजय कुमार सिंह, बीएमएसआईसीएल, टीएमएच के सर्जन पंकज चतुव्रेदी, परमाणु ऊर्जा विभाग के संजीव सूद समेत कई लोग मौजूद थे।

यह भी पढ़े  जलवायु के अनुसार विकसित की जाएं कृषि पण्रालियां : प्रेम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here