मुजफ्फरपुर के मधुबन क्षेत्र में शौचालय की टंकी के निर्माण के दौरान

0
165

टंकी में फैली थी जहरीली गैस, दम घुटने से 4 मजदूरों की मौतमामले की जानकारी लगते ही जिलाधिकारी ने आलोक रंजन घोष ने संज्ञान लेते हुए मीनापुर के सीईओ को घटनास्‍थल पर रवाना होने और जांच कर विस्तृत रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं.

मुजफ्फरपुर. जिले के मधुबन गांव में सोमवार सुबह बड़ा हादसा हो गया. यहां पर शौचालय की टंकी निर्माण के दौरान जहरीली गैसे के चलते चार मजदूरों का दम घुट गया और उनकी मौके पर ही मौत हो गई. बताया जा रहा है कि पहले टंकी में दो मजदूर उतरे थे लेकिन उनके वापस नहीं आने पर दो और अंदर गए और चारों की वहीं मौत हो गई. इसके बाद टंकी की एक दीवार तोड़ कर गैस को बाहर निकाला गया और एक अन्य मजदूर टंकी में उतरा, इसके बाद चारों के शवों को रस्सी से बांधकर बाहर निकाला.

डर के मारे कोई उतरने को नहीं हुआ तैयार
जैसे ही आसपास मौजूद लोगों को चारों के अंदर फंस जाने का अहसास हुआ वहां पर शोर मच गया. लेकिन टंकी में गैस का डर होने के चलते कोई भी उतरने को तैयार नहीं हुआ. बाद में शौचालय की टंकी की एक दीवार को तोड़ा गया और कुछ देर गैस बाहर निकलने का दिया गया. इसके बाद एक मजदूर रस्सी के सहारे अंदर गया और चारों के शवों को बाहर निकाला. घटना के बाद पूरे इलाके में कोहराम मच गया.

यह भी पढ़े  देश के कई हिस्सों में कहर बनकर बरसी बारिश, अब तक दर्जनों लोगों की मौत, जनजीवन प्रभावित

जिलाधिकारी ने दिए जांच के आदेश
मामले की जानकारी लगते ही जिलाधिकारी ने आलोक रंजन घोष ने संज्ञान लेते हुए मीनापुर के सीईओ को घटनास्‍थल पर रवाना होने और जांच कर विस्तृत रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं. वहीं डीएम ने कहा कि चारों मृतकों के परिजन को आपदा राहत के तहत अनुग्रह रा‌शि का भुगतान किया जाएगा.

पहले जलाएं दीपक
मुजफ्फरपुर में पहले भी इस तरह के हादसे हो चुके हैं. विज्ञान के शिक्षक डॉ. फूल गेम पूर्वे के अनुसार टंकी में जाने से पहले उसमें एक दीपक को जलाकर बाल्टी में रख रस्सी के सहारे टंकी में उतारा जाए. यदि दीपक बुझ जाता है तो यह निश्चित है कि टंकी में जहरीली गैस है. ऐसे में पहले गैस को बाहर निकाला जाए तभी अंदर जाया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here