मुख्यमंत्री ने लंगोट मेला का किया शुभारंभ

0
42
नालंदा में बाबा मणिराम अखाड़ा पर एक सप्ताह तक चलने वाले लंगोट मेले की शुरुआत , लंगोट चढ़ाते व पुजा अर्चना करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

नालंदा में बाबा मणिराम अखाड़ा पर एक सप्ताह तक चलने वाले लंगोट मेले की शुरुआत शुक्रवार से हो गयी। इसका विधिवत उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया। लगभग 4 बजकर 10 मिनट पर सीएम का काफिला अखाड़ा पर पहुंचा। डीएम डॉ. त्यागराजन व एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने उनका स्वागत बुके देकर किया। इसके बाद सीएम सीधे मंदिर प्रांगण पहुंचे। जहां पुरोहित आनंद मिश्रा ने पूजा अर्चना कराये। मंत्रोचारण के बाद सीएम ने लंगोट चढ़ाकर सूबे व जिले की खुशहाली व अमन चैन की मन्नत मांगी। देखने उमड़ी भीड़ का अभिवादन नीतीश कुमार ने हाथ हिलाकर स्वीकार किया। इसके बाद परिसर में बने सामुदायिक भवन गए जहां उन्होंने मंत्री श्रवण कुमार, मंत्री शैलेश कुमार, सांसद कौशलेन्द्र कुमार, स्थानीय विधायक डॉ. सुनील कुमार, राजगीर विधायक रवि ज्योति कुमार, पूर्व विधायक इंजीनियर सुनील, पूर्व विधान पार्षद राजू यादव, एमएलसी हीरा बिंद के अलावे जदयू के कई नेताओं से मुलाकात की। स्थानीय विधायक व न्यास समिति के सचिव अमरकांत भारती ने मेला को राजकीय दर्जा देने की मांग की। सीएम ने इस मांग पर आश्वासन दिया कि इस पर विचार किया जाएगा। इसके बाद सीएम सड़क मार्ग से होते हुए पटना प्रस्थान कर गए। इस मौके पर डीआईजी राजेश कुमार एवं एसएसपी मनु महराज मौजूद रहे। बाबा मणिराम के अखाड़ा पर प्रसिद्ध लंगोट मेला शुक्रवार को पारंपरिक श्रद्धा व उल्लास के साथ प्रारंभ हो गया। मेला का उद्घाटन सीएम नीतीश कुमार ने किया। सीएम के आगमन को लेकर पूरा प्रशासनिक महकमा दोपहर से ही सजग दिखी। अखाड़ा पर क्षेत्र को पूरी तरह बंद कर दिया गया था। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गयी थी। मंदिर परिसर स्थित सामुदायिक भवन में नीतीश कुमार के बैठने की व्यवस्था की गयी थी। वहां पर अधिकारी व मंदिर न्यास समिति के अधिकारी को ही जाने की अनुमति थी। चारों ओर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की तरफ से होडिर्ंग्स लगाया गया था। लगभग चार बजे सीएम बाबा मणिराम के मंदिर पहुंचे। वे मंदिर में लगभग 10 मिनट रुके। लंगोट चढ़ाया व पूजा अर्चना की। सीएम ने बाबा मणिराम के अखाड़े पर जाकर लंगोट चढ़ाकर जिले की सुख शांति के लिए दुआ मांगी। उन्होंने जिले के तमाम लोगों से इस पावन पारंपरिक मेले को शांतिपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने का आह्वान किया। प्रशासन ने बाबा मणिराम के अखाड़े पर लोगों के लिए सुरक्षा का पुख्ता व्यवस्था किया गया था। बाबा मणिराम के प्रांगण में बच्चों के लिए आकर्षक झूला, गोलगप्पा की दुकानें, जिले की पारंपरिक मिठाई जलेबी की दुकानें सजधज कर तैयार है। मेले में आने वाले लोग तरह-तरह के व्यंजन का स्वाद भी ले रहे हैं। एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने कहा कि मेले के दौरान असामाजिक तत्वों पर विशेष ध्यान रखा जा रहा है। मेले के दौरान सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर बैरिकेडिंग एवं ड्राप गेट लगाये गये हैं, ताकि लोंगों के अनवांछित मूवमेंट को नियंत्रित किया जा सके साथ ही यातायात व्यवस्थित रह सके। अधिकारियों ने मेले को शांतिपूर्ण माहौल में मेले का सम्पन्न कराने का आदेश दिया। डीएम ने सभी संबंधित अधिकारियों से कहा कि लंगोटा जुलूस एवं इस अवसर पर लगने वाले मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की दिक्कत न हो, इसे हर हालत में सुनिश्चित किया जाए। मेला अवधि में सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की गयी है। संपूर्ण मेला परिसर सहित प्रमुख स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे एवं वॉच टावर से नजर रखी जा रही है। मेला क्षेत्र में एक नियंतण्रकक्ष भी कार्यरत है। इस दौरान मजिस्ट्रेट व पुलिस पदाधिकारियों द्वारा पूरे शहर में नियमित रूप से गस्ती जाएगी जाएगी।

यह भी पढ़े  विधान परिषद सदस्य की शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री का भव्य स्वागत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here