मुकुल रॉय के बयान से पश्चिम बंगाल में हलचल, क्या कर्नाटक-गोवा जैसा होगा खेल?

0
59

गोवा में जहां कांग्रेस के 10 बीजेपी में चले गए हैं, वहीं कर्नाटक में कांग्रेस+जेडीएस के कई विधायक इस्तीफा देकर एचडी कुमारस्वामी की सरकार को मुश्किल में डाल दिया है. इसी बीच बीजेपी के बड़े नेता मुकुल रॉय के बयान से पश्चिम बंगाल में हलचल मच गई है. बीजेपी नेता के मुकुल रॉय ने शनिवार को दावा किया कि कांग्रेस, माकपा (सीपीआई-एम) और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कुल 107 विधायक भाजपा में शामिल होंगे. अगर मुकुल रॉय का यह बयान सही साबित होता है तो ममता बनर्जी की सरकार खतरे में आ सकती है. यानी यहां भी कर्नाटक और गोवा जैसे हालात पैदा हो सकते हैं.

यहां आपको बता दें कि गोवा में बीजेपी कम सीटें लाकर भी जोड़तोड़ की मदद से सरकार बनाने में सफल रही है. वहीं कर्नाटक में जेडीएस+कांग्रेस का गठबंधन होने के चलते बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार नहीं बना पाई है.

अब मुकुल रॉय ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘कम से कम 107 पश्चिम बंगाल के विधायक जो कि माकपा, कांग्रेस व तृणमूल कांग्रेस के सदस्य हैं, भाजपा में शामिल होंगे. हमारे पास उनकी सूची तैयार है और वे हमारे संपर्क में हैं.’ हालांकि, उन्होंने नेताओं के पाला बदलने का कोई निर्धारित समय या उक्त विधायकों के नामों के बारे में नहीं बताया.

यह भी पढ़े  कांग्रेस ने दिल्ली में घोषित किए छह उम्मीदवार, मनोज तिवारी के खिलाफ शीला दीक्षित को टिकट

2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा को भारी बढ़त मिली. इसके बाद तृणमूल कांग्रेस के पांच विधायक, जिनमें मुकुल के बेटे सुभ्रांशु रॉय (बीजापुर विधायक) भी शामिल हैं, भाजपा के पाले में आ गए. वहीं 60 से अधिक पार्षद भी भाजपा में शामिल हो गए.

भाजपा में शामिल होने वाले तृणमूल कांग्रेस के चार अन्य विधायक नोआपारा से सुनील सिंह, बोंगन से बिश्वजीत दास, लाबपुर से मनीरुल इस्लाम और कलचीनी विधानसभा सीट से विल्सन चंप्रामरी शामिल हैं.

इसके अलावा दो और विधायक कांग्रेस के तुषारकांति भट्टाचार्य और माकपा के देबेंद्र नाथ रॉय भी भाजपा में शामिल हो गए.

कल बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल के 107 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि ये सभी विधायक जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. बीजेपी नेता ने कहा कि इन विधायकों में से अधिकतर विधायक सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से हैं. बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने कहा,‘‘कम से कम 107 विधायक हमारे संपर्क में है. इनमें से अधिकतर तृणमूल से हैं, कुछ कांग्रेस से और कुछ सीपीएम से हैं. वे भगवा खेमे में शामिल होने को इच्छुक हैं.’’बीजेपी नेता ने हालांकि इस संबंध में ज्यादा जानकारी नहीं दी. उन्होंने कहा कि टीएमसी के अनेक नेताओं का ममता बनर्जी की अगुवाई वाली पार्टी पर से विश्वास उठ गया है और पार्टी के कामकाज के तरीकों से वह परेशान हैं.

यह भी पढ़े  बजट पेश करने से पहले मनमोहन सिंह से मिलीं निर्मला सीतारमण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here