मिथिला को आगे बढ़ाना राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल है :मुख्यमंत्री

0
196
ZILA MADHUBANI RAHIKA PERKHAND MEIN MITHILA LALIT MUSEUM BHVAN KA SHILA NIYAS KA UDGHATAN KERTE CM NITISH KUMAR

‘‘मिथिला को आगे बढ़ाना राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल है, क्योंकि मिथिला के विकास बिना राज्य का विकास अधूरा है।’ यह बात मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बृहस्पतिवार को मधुबनी जिले के रहिका प्रखंड स्थित सौराठ में मिथिला चित्रकला संस्थान एवं मिथिला ललित संग्रहालय के भवन के शिलान्यास के मौके पर कही। शिलान्यास समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मिथिला पेंटिंग के प्रति पूरे देश में ही नहीं, बल्कि देश के बाहर भी लोगों का लगाव है। उन्होंने कहा, ‘‘मधुबनी पेंटिंग के प्रति हमलोगों की बहुत श्रद्धा है, आप सबलोगों के सहयोग से इसे और आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि देश का विकास तब तक नहीं होगा, जब तक की बिहार का विकास नहीं होगा और बिहार का विकास तब तक नहीं होगा, जब तक कि मिथिला का विकास नहीं होगा।’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम फरवरी 2018 में जापान की यात्रा पर गये थे। उस समय जापान में भारत के राजदूत सुजान आर चिनॉय थे, जिनकी भी रुचि मिथिला पेंटिंग में रही है। जापान के टोकामाची सिटी में मिथिला म्यूजियम है, जिसके निदेशक टोक्यो हासेगावा हैं। वहां मिथिला पेंटिंग का अद्भुत कलेक्शन है। टोक्यो के विवेकानंद कल्चर सेंटर में राजदूत श्री चिनॉय ने मिथिला म्यूजियम की पेंटिंग की यहां प्रदर्शनी दिखाई थी, जो अद्वितीय थी।’ उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आवास में संकल्प भवन की दीवारों पर भी मिथिला पेंटिंग करायी गई है। पटना शहर में सभी सरकारी दीवारों पर मधुबनी पेंटिंग करायी जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पटना एयरपोर्ट का विस्तारीकरण किया जा रहा है। उसकी टर्मिनल बिलिं्डग के अंदर और बाहर मिथिला पेंटिंग की झलक देखने को मिलेगी। दरभंगा में एयरपोर्ट का भी निर्माण एयरफोर्स बेस में हो रहा है। बाहर के जिन लोगों की रुचि मधुबनी पेंटिंग में होगी, वे दरभंगा से सिविल विमानन सर्विस शुरू होने से आसानी से यहां आ सकेंगे। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशन पर भी मधुबनी पेंटिंग की झलक देखने को मिल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के अन्य हिस्सों के साथ-साथ मिथिला में भी पुल-पुलियों सहित निर्माण के कई कार्य किये जा रहे हैं। हवाई सव्रेक्षण के द्वारा इन सब चीजों की समीक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में हर घर तक बिजली पहुंच गई है और बिजली की आपूत्तर्ि भी ठीक ढंग से हो रही है। पहले बिजली की जगह लोग ढिबरी और लालटेन से काम चलाया करते थे। रौशनी नहीं होने के कारण घर के बच्चे संकट में रहते थे। अब अंधेरा भी खत्म हुआ और लालटेन की जरूरत भी नहीं रही। सीएम ने कहा कि कुछ लोग समाज में टकराव पैदा करना चाहते हैं, जिनसे सचेत रहने की जरूरत है। उन्होंने लोगों से समाज में सद्भाव एवं प्रेम का माहौल बनाए रखने की अपील की और कहा कि समाज में जब शांति का वातावरण रहेगा, तो विकास का लाभ लोगों तक और तेजी से पहुंचेगा। लोग किसी भी धर्म या संप्रदाय के हों, सबको अपनी आस्था का अधिकार है, लेकिन एक दूसरे का सम्मान भी जरूरी है। सबको एकजुट होकर आगे बढ़ना होगा। मुख्यमंी ने कहा कि मेरी सरकार न्याय के साथ विकास के पथ पर आगे बढ़ रही है। समाज के हर तबके और राज्य के हर इलाके के विकास में किया जा रहा है। सात निश्चय योजना के अंतर्गत गांवों का विकास किया जा रहा है और वहां के लोगों को हर सुविधाओं से जोड़ा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 12वीं के बाद यहां के छात्र-छात्राएं आगे पढ़ सकें, इसके लिए राज्य सरकार शिक्षा वित्त निगम के माध्यम से स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत छात्रों को चार प्रतिशत और छात्राओं, ट्रांसजेडरों और दिव्यांगों को एक प्रतिशत के ब्याज पर 4 लाख रुपये तक शिक्षा ऋण मुहैया करा रही है। शिक्षा ग्रहण के बाद जब ये काम करने लगेंगे तो उन्हें 82 किस्तों में पैसे लौटाने होंगे और अगर वे पैसे लौटाने में अक्षम होंगे, तो इस ऋण को माफ भी किया जा सकता है। कार्यक्रम को पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, कला संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि, भवन निर्माण मंत्री महेश्वर हजारी, लोक स्वास्य अभियांण मंत्री विनोद नारायण झा, पंचायती राज मांत्री कपिलदेव कामत, बिहार राज्य योजना परिषद के सदस्य संजय झा ने भी संबोधित किया।

यह भी पढ़े  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इकॉनमी को पटरी पर लाने के लिए आज कई बड़े ऐलान कर सकती हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here