मानसून सत्र के पांचवें दिन विधानसभा पहुंचे तेजस्वी

0
94
PATNA - BIHAR VIDAN SAVA ME LAMBA DINO KE BADH AYA TAJASWEY YADAV

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद ‘‘अज्ञातवास’ पर चले गए बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव मॉनसून सत्र के पांचवें दिन आज सभा की कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिए सदन पहुंचे। यादव करीब 11:45 बजे विधानसभा पहुंचे। सदन में उनके पहुंचने पर राजद सदस्यों ने मेज थपथपा कर उनका स्वागत किया। बाद में नेता प्रतिपक्ष ने विधानसभा स्थित अपने कक्ष में संवाददाताओं से बातचीत में पिछले 35 दिनों से सार्वजनिक तौर पर नजर नहीं आने के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि वह दिल्ली में अपने अग्रवर्ती क्रूसिएट लिगामेंट (घुटने से संबंधित) का इलाज करा रहे थे और इसी वजह से वह नजर नहीं आ रहे थे। यादव ने कहा, ‘‘मैं अग्रवर्ती क्रूसिएट लिगामेंट (घुटने से संबंधित) का इलाज करा रहा था लेकिन उनके क्रि केट विश्व कप देखने इंग्लैंड जाने या दूसरे देश में होने को लेकर जो भी अटकलें लगायी जा रही थीं उसमें कोई सच्चाई नहीं है। मेरे पास तो पासपोर्ट ही नहीं है। मैं विदेश कैसे जा सकता हूं।’ उल्लेखनीय है कि भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम लिमिटेड (आईआरसीटीसी) के होटल टेंडर घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने श्री यादव का पासपोर्ट जब्त कर लिया है। यादव ने लोकसभा चुनाव में मिली हार की नैतिक जिम्मेवारी लेकर इस्तीफे की पेशकश से संबंधित खबर के बारे में पूछे जाने पर कहा, यह अफवाह है, इसके पीछे पड़ कर आप लोग अपना समय बर्बाद ना करें।’ उन्होंने कहा कि लोगों को अटकलें लगाने दीजिए सभी का जवाब आने वाले दिनों में लोगों को मिल जाएगा। नेता प्रतिपक्ष ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि लोकसभा चुनाव में हार के कारणों का पता लगाने के लिए बनाई गई पार्टी की तीन सदस्यीय कमेटीकी रिपोर्ट अभी उन्होंने नहीं देखी है इसलिए वह हार के कारणों के संबंध में अभी कुछ नहीं कह सकते हैं। उन्होंने सवाल करने वाले पत्रकारों से ही पूछा कि आप ही बताएं कि लोकसभा चुनाव में पार्टी या महागठबंधन क्यों हारा। यादव ने कहा कि बिहार सरकार ने उनके आवास की साज-सज्जा के लिए सरकारी राशि के दुरुपयोग और मिट्टी घोटाले के मामले में उन्हें क्लीन चिट दे दी है। उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुशील कुमार मोदी अब इस मामले पर राजनीतिक लाभ के लिए कुछ भी कहते रहे, इससे कुछ होने वाला नहीं है। नेता प्रतिपक्ष ने सरकार की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हुए कहा कि जो सरकार विधानसभा के नए विस्तारित भवन में पानी के रिसाव के बारे में ठीक से पता नहीं लगा सकती है, उससे मुजफ्फरपुर एवं उसके आसपास के जिले में चमकी बुखार (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम-एईएस) से सैकड़ों बच्चों की हुई मौत के सही कारण का पता लगाने की उम्मीद करना बेमानी है। गौरतलब है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में बिहार में राजद का खाता भी नहीं खुला था। परिणाम आने के बाद यादव अचानक गायब हो गए थे और वे कहां हैं इस बारे में भी पार्टी के नेताओं को पता नहीं था। पार्टी के नेता उनके बारे में अलग अलग बातें कह रहे थे जिससे कई तरह की अटकलों का दौर शुरू हो गया था। इतना ही नहीं मुजफ्फरपुर में लगाई गई पोस्टर में यादव को ढूंढने वाले को 5100 रुपये इनाम देने का भी वादा किया गया। सत्र के पहले दिन यादव के विधानसभा नहीं आने पर राजद विधानमंडल दल की नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा था कि यादव जल्द आएंगे। वह बैठे हुए नहीं हैं बल्कि अपना काम कर रहे हैं। इसके अगले दिन ही नेता प्रतिपक्ष ने ट्वीट कर गायब होने का कारण बताया था कि वह अपने अग्रवर्ती क्रूसिएट लिगामेंट (घुटने से संबंधित) का इलाज करा रहे थे।

यह भी पढ़े  तेज प्रताप का PM मोदी व CM नीतीश को रिक्‍शा चैलेंज, NDA ने यूं किया पलटवार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here