महागठबंधन ने किया राजभवन मार्च

0
52

राज्य सरकार के मुखिया द्वारा महागठबंधन के नेताओं के बारे में अमर्यादित टिप्पणी करने के खिलाफ में महागठबंधन द्वारा आज राजभवन मार्च निकाला गया। आयकर गोलंबर से मार्च प्रारंभ होकर राजभवन जा रहा था जिसे प्रशासन द्वारा हड़ताली मोड़ के पास रोक दिया गया। राज्यपाल के बुलावे पर महागठबंधन का प्रतिनिधि मंडल राजभवन जाकर महामहिम को ज्ञापन दिया। प्रतिनिधिमंडल ने महामहिम का ध्यान मुख्यमंत्री द्वारा महागठबंधन एवं इसमें शामिल होने वाले नेताओं के बारे में की गयी अमर्यादित टिप्पणी पर ध्यान आकृष्ट कराया गया तथा उनसे इस मामले में हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया गया। प्रतिनिधिमंडल ने महामहिम से मुख्यमंत्री द्वारा महागठबंधन के नेताओं के विरूद्ध की गयी अमर्यादित टिप्पणी को वापस लेने, राज्य की जनता से माफी मांगने एवं भविष्य में महागठबंधन एवं बिहार की जनता के प्रति मर्यादित भाषा का प्रयोग करने के लिए अपने स्तर से निर्देश देने का अनुरोध किया गया। महामहिम ने प्रतिनिधिमंडल द्वारा किये गये अनुरोध को संज्ञान में लेते हुए कहा कि राजनेताओं को भाषा और शब्दों के प्रयोग में मर्यादा का पालन करना चाहिए। महामहिम से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में राजद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचन्द्र पूव्रे, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. तनवीर हसन, कांगेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष श्याम सुन्दर सिंह धीरज एवं अबिदुर रहमान, रालोसपा के सत्यानंद प्रसाद दांगी एवं राजेश यादव, लोकतांत्रिक जनता दल के रमई राम एवं बीनू यादव, समाजवादी पार्टी के देवेन्द्र प्रसाद यादव एवं रामधनी सिंह, वीआईपी के मुकेश सहनी एवं किशुन चौधरी, हिन्दुस्तान आवाम पार्टी के डॉ. दानिष रिजवान एवं विजय यादव के साथ ही विधायक भाई बीरेन्द्र, शिवचन्द्र राम, शक्ति सिंह यादव, राजेन्द्र राम, प्रो. चन्द्रशेखर आदि शामिल थे। इसके पूर्व आयकर गोलम्बर चौराहा से राजभवन जाने के क्रम में बड़ी संख्या में शामिल महागठबंधन के नेता एवं कार्यकर्ता अपने-अपने दलों के झंडा-बैनर के साथ सरकार विरोधी नारे लगाकर अपना आक्रोश व्यक्त कर रहे थे। आक्रोश मार्च में राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह, रामनारायण मंडल, विधायक विजय कुमार विजय, डॉ. रामानंद यादव, नीरज कुमार, समता देवी, सुनील कुमार कुशवाहा, रेखा पासवान, सीताराम यादव, जयवर्धन यादव, श्रीनारायण यादव, हरिशंकर यादव, अरूण कुमार यादव, अनीता देवी, प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन, मनीष यादव, चन्देश्वर प्रसाद सिंह, देवमुनी सिंह यादव, आभा लता, मदन शर्मा, अनिल कुमार साधु, कारी सोहैब, विजय कुमार यादव, संजय यादव, राजेश पाल, डॉ. पेम कुमार गुप्ता, देवकिशुन ठाकुर,नन्दू यादव, डॉ. कुमार राहुल सिंह, निराला यादव, विजय सम्राट, प्रमोद कुमार राम, गुलाम रब्बानी, राजा चौधरी, हरेराम महतो, निरंजन कुमार चन्द्रवंशी, पीके चौधरी, प्रो. रंधीर यादव, ई. अशोक कुमार सिंह, शैलेन्द्र कुमार यादव, मनोज कुमार, परमेश्वर यादव, संजीव मिश्रा, प्रो. सेवा यादव, डॉ. उर्मिला ठाकुर, डॉ. उर्मिला पाल, शोभा पासवान, मंजूदास, सुरेन्द्र कुमार यादव सहित महागठबंधन के हजारों कार्यकर्ता और नेता शामिल थे।

यह भी पढ़े  इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान अपनी सीमा नही लांघे,चर्च बनाने के बजाय अपनी व्यवस्था सुधारे : हुलास पांडेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here