मधेपुरा मेडिकल कॉलेज में इस सत्र में नामांकन के आसार

0
97

राज्य में नये सरकारी मेडिकल कॉलेजाें में वरीय शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पहल की है. इन मेडिकल कॉलेजों में 162 एसोसिएट प्रोफेसर व प्रोफेसर की स्थायी नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है. चिकित्सा शिक्षा संवर्ग में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर तैनात इन डॉक्टरों को प्रमोशन देने की पहल की गयी है.
रोस्टर क्लियरेंस के साथ ही डिपार्टमेंटल प्रमोशन कमेटी (डीपीसी) ने सहमति दे दी है. इस सत्र के दौरान जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज मधेपुरा में इस सत्र से एमबीबीएस कोर्स में नामांकन होना है.

शैक्षणिक सत्र आरंभ होने के पूर्व यहां पर भी शिक्षकों की आवश्यकता है. साथ ही राज्य के अन्य मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों में भी एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर के पद रिक्त हैं.

सरकारी मेडिकल कॉलेजों में वरीय शिक्षकों के पदों पर स्थायी नियुक्ति के बाद किसी भी मेडिकल कॉलेज की मान्यता को लेकर संकट नहीं होगा.
साथ ही प्रस्तावित मेडिकल कॉलेजों के लिए आवश्यकता पर शिक्षकों का पदस्थापन भी किया जा सकता है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि एसोसिएट व प्रोफेसर पदों को लेकर डीपीसी की जा चुकी है. इस सप्ताह एक और डीपीसी होनेवाली है. उन्होंने बताया कि वरीय पदों पर जल्द ही शिक्षकों के पदस्थापन की कार्रवाई की जायेगी.

यह भी पढ़े  प्रशिक्षित होंगे सूबे के ग्रामीण स्वास्य कार्यकर्ता : मंगल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here