मधुबनी के फुलपरास में अपराधियों का तांडव

0
904

मधुवनी : प्रखंड के बेलहा गांव में दो दिन पहले बकरी को खिलाने के लिए कटहल का पता तोड़ने को लेकर हुए बिवाद ने ऐसा भयानक रूप लिया कि बुधवार को अहले सुबह बेलहा गांव में गोली की तड़तराहट से जबतक लोगों की नींद खुली तबतक दो लोगों की मौत के साथ चार लोग गोलीबारी में गंभीर रूप से घयल हो चुके थे। प्रत्यक्षदर्शी प्रमेश्वर मंडल ने बताया कि अहले सुबह करीब साढ़े पांच छ:बजे के बीच करीब दर्जन भर अपराधी चार मोटर साईकिल पर सवार होकर आये और हथियार लहराते हुए रासेन्द्र मंडल के आंगन में प्रवेश कर अंधाधुन फायरींग शुरू कर दिया। जिसमें श्रीप्रसाद मंडल के 22 बर्षीय पुत्र रासेन्द्र मंडल एवं रौशन मंडल सहित मनोज मंडल, देवसुन्दर मंडल, रामेश्वर मंडल, फुलो देवी, मोती देवी एवं आशा देवी घायल हो गया। कुछ अपराधी आंगन में घुसे हुए थे और कुछ आंगन के बाहर ही खड़े थे। एक अपराधी आंगन से बाहर निकल रहा था इतने में बाहर खड़े अपराधी ने ग्रमीण को टारगेट कर गोली फायर कर दिया जो संयोगवश आंगन से बाहर निकल रहे अपराधी को सीधा मुंह में जा लगा और वे वही ढ़ेर हो गया। अपराधियों द्वारा अपने ही गोली से अपने ही साथी के मोत से अफरातफरी मच गया इतने में मेला देखकर लौट रहे ग्रमीण अपराधियों पर टुट पड़े अपराधी मोटर साईकिल छोड़कर पुरब की दिशा में आम के बगीचे होकर भागने में सफल हो गया। बताया जाता है कि दो दिन पहले राजीव प्रसाद साह एवं रासेन्द्र मंडल के बीच कटहल का पता तोड़ने को लेकर बिवाद हुआ था जिसे ग्रमीण पंचों ने सुलझा भी दिया था। लेकिन राजीव साह रासेन्द्र को सबक सीखाने के लिए भाड़े का अपराधी लाकर बुधवार को अहले सुबह हमला बोल दिया।

यह भी पढ़े  बोर्ड ऑफिस में नौकरी के नाम पर फोन कर पैसे मांगने के मामले में एसआईटी बनी

फुलपरास थाना के बेलहा गांव में बुधवार को अहले सुबह बदमाशों ने अंधाधुन फायरींग किया, जिसमें पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि दो लोगों की मौंत हो गई। बदमाशों की गोली से घायल एक 22 वर्षीय युवक की मौत अनुमंडलीय अस्पताल में इलाज के दौरान हो गया। मृत युवक की पहचान गांव के ही श्रीप्रसाद मंडल के पुत्र रासेन्द्र मंडल के रूप में किया गया है। जबकि एक अपराधी का मौंत अपने ही साथी के द्वारा चलाए गये गोली के लगने से घटना स्थल पर ही होने की बात प्रत्यक्षदर्शीयों द्वारा बताया जा रहा है।  मृतक अपराधी की शिनाख्त नहीं हो पायी है। गोलीबारी में घायलों को इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में डीएमसीएच रेफर कर दिया है। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने घोघरडीहा-फुलपरास मुख्य पथ को बेलहा चौक के निकट बांस बल्ला लगाकर जामकर दिया।

यह भी पढ़े  ट्रेन में मनचलों का आतंक, सीट विवाद को लेकर 'जज साहब' को पीटा

घटना की सुचना मिलते ही अनुमंडल पदाधिकारी कमर आलम एवं डीएसपी उमेश्वर चौधरी थाना पुलिस के साथ पहुंचें और आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर शव को अपने कब्जा में लेने का प्रयास किया लेकिन लोग और भी उग्र हो गये। शव उठाने गई पुलिस को आक्रोशित ग्रामीणों ने खदेड़ दिया, ग्रमीण अपराधी की गिरफ्तारी एवं अपराधियों के गोली से मृत यूवक रासेन्द्र के परिजन को सरकारी नौकरी एवं पांच लाख रूपया का मुआवजा देने की मांग कर रहें थे। माहौल को बिगड़ते देख एसडीओ श्री आलम एवं डीएसपी श्री चौधरी ने जिला के वरिये पदाधिकारी को ससुचना देने के साथ ही फुलपरास अनुमंडल के अलावा झंझारपुर अनुमंडल के सभी थाना पुलिस को घटना स्थल पर बुला लिया।

फुलपरास एवं झंझारपुर अनुमंडल के सभी थाना पुलिस बल को पहुंचने के बाद एक बार फीर पुलिस शव को घटना स्थल से उठाने का प्रयास किया लेकिन ग्रामीण टस से मस नही हुए। दिन के 10 बजे जिला पदाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक एवं पुलिस अधीक्षक दीपक वर्णवाल, एएसपी आनन्द पाण्डेय, मुख्यालय डीएसपी अतिरिक्त पुलिस बल, दंगा निरोधक बल व अग्नीशामक वाहन के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। डीएम श्री अशोक एवं एसपी श्री वरनवाल के पहल पर स्थानीय जदयू नेता चुल्हाई कामत, शिशुपाल मंडल, अरूण मंडल, कपिलेश्वर यादव, दयाराम मंडल, उपमुखिया पवन मंडल, पुर्व सरपंच हीरालाल मंडल, प्रमेश्वर मंडल, शिवजी प्रसाद साह, आलोक प्रसाद साह सहित ग्रामीणों से वार्ता किया।

यह भी पढ़े  बदमाशों ने पिता-पुत्र को गोली मारी, बेटे की मौत

ग्रामीणों ने डीएम के सामने घटना में शामिल अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी एवं मृतक रासेन्द्र के परिजन को सरकारी नौकरी एवं पांच लाख रूपया मुआवजा देने की मांग रखी। जिला पदाधिकारी श्री अशोक ने तत्काल मृतक के परिजन को परिवारिक लाभ योजना से बीस हजार रूपये, मृतक की पत्नी को विधवा पेंशन सहित नौकरी के लिए सरकार से सिफारिस करने की घोषना किए लेकिन ग्रामीण पांच लाख रूप्ये मुआवजा देने की मांग पर अड़ गए। काफी मशकत के बाद जिला पदाधिकारी श्री अशोक ने नकदी मुआवजा के लिए नियमानुकुल विचार करने का आश्वासन दिया। जिसके बाद आक्रोशित ग्रमीण शांत हुए। ग्रामीणों से वार्ता के बाद थाना पुलिस गोलीबारी में मारे गए अपराधी का शव एवं अपराधियों का चार मोटर साईकिल अपने कब्जे में लेकर थाना पर आये। अपराधियों के गोली से मारे गए रासेन्द्र एवं अज्ञात अपराधी का शव पोस्टर्माटम के लिए सदर अस्पताल मधुबनी भेज दिया गया है। घटनास्थल पर विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिए भाड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।कटहल के पता तोड़ने का विवाद में घटना को दिया

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here