मजदूरों को मोदी सरकार ने गुलाम बना दिया:इंटक

0
229
Patna-Sep.2,2018-Bihar INTUC president Chandra Prakash Singh is holding meeting at Sadaquat Ashram in Patna.

राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस ( इंटक) बिहार की50 वीं कार्यसमिति की बैठक के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश सिंह ने कहा कि मोदी सरकार देश के श्रम कानूनों में मजदूर विरोधी संशोधनों को मुर्त्तरुप देने में जुटी है। इंडस्ट्रीयल इम्पलाएमेंट( स्थायी आदेश) अधिनियम 1946 में संशोधन कर मार्च 2018 से स्थायी नियोजन के बदले फिक्सड टर्म इम्पलायमेंट कर दिया है और कारखाना-प्रतिष्ठानों में कामगारों को रखो और निकालो ( हायर एंड फायर) की पूरी आजादी दे दी गयी है। उन्होंने कहा कि देश के मजदूरों को मोदी सरकार ने गुलाम बना दिया है। श्री सिंह ने यह भी जानकारी दी कि नवम्बर महीने में केन्द्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ सभी केन्द्रीय श्रमिक संगठन दो दिन का राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेंगे। इस मौके पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता एच.के. वर्मा ने कहा कि इंटक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का मोर्चा संगठन है और देश के मजदूर आंदोलन को मजबूती प्रदान करने में इसकी प्रमुख भूमिका रही है। राज्य के मजदूरों की समस्याओं को इंटक उठाएगी,जिसमें प्रदेश कांग्रेस सहयोग करेगा। इंटक के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बिहार का सबसे बड़ा कारखाना करीब चार हजार मजदूरों को नियोजन देने वाला समस्तीपुर जुट मिल पहले एक साल से बंद है। दूसरा कटिहार जूट मिल पिछले तीन साल से बंद है। साथ ही ऐसे कई कारखाने बंद हैं और इन कारखानों में काम करने वाले मजदूर पलायन करने को विवश हैं। फिर भी राज्य सरकार एवं श्रम संसाधन विभाग को इसकी चिंता नहीं है। इस मौके पर इंटक नेता डी. राम, गोपाल लाल महतो, आर.एन.राय, एस.एस. मंडल, हिमांशु कुमार, अशोक सिंह, टी.के.सिंह, चुनचुन राय, सत्यनारायणसिंह, कृष्ण बिहारी चौबे, केशर सिंह,लक्ष्मी प्रसाद, रौशन कुमार मौजूद थे।

यह भी पढ़े  पूर्व विधायक के पास से 10 करोड़ से ज्यादा के लेन-देन के मिले प्रमाण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here