मगध और बिहार विवि के गैरसंबद्ध कॉलेजों के छात्र दे सकेंगे परीक्षा

0
20

पटना हाईकोर्ट ने मगध विविद्यालय और बीआर अंबेदकर विविद्यालय (मुजफ्फरपुर) के दो दर्जन वैसे डिग्री कॉलेजों, जिनका संबद्धता का आवेदन राज्य सरकार के अधीन विचारार्थ है, उनके हजारों छात्रों को बड़ी राहत दी है। अब इन कॉलेजों के स्नातक के छात्र 2017-18 की परीक्षा दे सकेंगे। हाईकोर्ट ने गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान स्पष्ट किया कि जिन कॉलेजों के संबद्धता संबंधी आवेदन पर राज्य सरकार की मंजूरी नहीं मिली है, उनके छात्रों को स्नातक व अन्य डिग्री परीक्षा का फॉर्म भरने से वंचित नहीं किया जाएगा। अदालत ने साफ कहा कि राज्य सरकार को छह हफ्ते में संबद्धता के लिए आवदेन करने वाले कॉलेजों के लंबित मामलों का निपटरा करना होगा।मुख्य न्यायाधीश एमआर शाह एवं न्यायमूर्ति आशुतोष कुमार ने सुनवाई के दौरान यह भी निर्देश दिया कि अगले वर्ष से कोई भी कॉलेज बिना राज्य सरकार से संबद्धता की मंजूरी लिये छात्रों का दाखिला नहीं लेगा। परीक्षा देने के बाद परिणाम कॉलेज के संबद्धता मिलने पर ही निर्भर करेगा। रिजल्ट तब तक नहीं जारी किया जायेगा, जब तक सरकार इन कॉलेजों की संबद्धता पर अपनी मुहर नहीं लगा देती। गौरतलब है कि न्यायाधीश चक्रधारी शरण की एकलपीठ ने इस मामले से संबंधित याचिका को 20 अगस्त को खारिज कर दिया था। बाद में छात्रों ने दो जजों की खंडपीठ में इस आदेश को चुनौती दी थी, जिस पर हाईकोर्ट ने एकलपीठ के फैसले को बदलते हुए छात्रों के हक में फैसला सुनाया।

यह भी पढ़े  मानव श्रृंखला पर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here