भ्रष्ट लोकसेवकों पर चला निगरानी का डंडा

0
4

पटना : बिहार राज्य सतर्कता अन्वेषण ब्यूरो ने भ्रष्ट लोक सेवकों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत मंगलवार को कार्रवाई को तेज कर रिश्वत लेते हुए गया जिले की महिला थानाध्यक्ष, कटिहार के कदमा के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी और समस्तीपुर में दारोगा को गिरफ्तार किया। ब्यूरो के महानिदेशक रवीन्द्र कुमार ने यहां बताया कि भ्रष्ट लोक सेवकों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई तेज कर दी गयी है। इसी के तहत ब्यूरो की अलग-अलग टीम ने मंगलवार को गया, कटिहार और समस्तीपुर जिले से तीन भ्रष्ट लोक सेवकों को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि गया जिले चंदौती थाना क्षेत्र के अलीगंज मुहल्ले के रहने वाले परिवादी इश्तियाक अंसारी ने विभाग में एक लिखित शिकायत की थी कि महिला थानाध्यक्ष मीरा कुमारी ने एक मामले में प्राथमिकी दर्ज करने के एवज में उनसे दस हजार रुपये रिश्वत की मांग की है। मामले का सत्यापन के बाद इसे सही पाया गया। महानिदेशक ने बताया कि इसके बाद विभाग के पुलिस उपाधीक्षक पारस नाथ सिंह के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। इस टीम ने महिला थानाध्यक्ष को परिवादी से बतौर रिश्वत नौ हजार रुपये लेते हुए उनके कार्यालय से रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार थानाध्यक्ष को पूछताछ के लिए यहां ब्यूरो मुख्यालय लाया गया है और इसके बाद उन्हें पटना स्थित विशेष अदालत में पेश किया जायेगा। ब्यूरो के महानिदेशक ने बताया कि इसी तरह कटिहार के बलिया बेलौन थाना क्षेत्र के विद्यानंदपुर गांव के रहने वाले परिवादी मो. अबरार ने लिखित शिकायत की थी कि कदमा प्रखंड के शिक्षा पदाधिकारी अभयनाथ मिश्र ने विद्यालय में मध्याह्न भोजन एवं छात्रों की उपस्थिति की संख्या के संबंध में उनसे 60 हजार रुपये रिश्वत की मांग की है। मामले का सत्यापन कराये जाने के बाद इसके सही पाये जाने पर एक विशेष टीम का गठन किया गया। ब्यूरो के पुलिस उपाधीक्षक दीनानाथ पासवान के नेतृत्व में गठित इस टीम ने प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को कटिहार स्थित उनके कार्यालय में परिवादी से बतौर रिश्वत साठ हजार रुपये लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। ब्यूरो के महानिदेशक ने बताया कि इसी अभियान के तहत समस्तीपुर जिले के शाहपुर पटोरी थाने में तैनात दारोगा मनोज कुमार सिंह को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया गया। पटोरी थाना क्षेत्र के हसनपुर टोड़ा गांव के रहने वाले परिवादी रामनरेश राय ने शिकायत दर्ज करायी थी कि शाहपुर पटोरी थाने के दारोगा मनोज कुमार ने एक केस में उनकी मदद करने के एवज में 15 हजार रुपये रिश्वत की मांग की है। मामले का सत्यापन कराये जाने के बाद इसके सही पाये जाने पर एक धावा दल का गठन किया गया। विभाग के पुलिस उपाधीक्षक मो.जमीरुद्दीन के नेतृत्व में गठित धावा दल ने दारोगा को पटोरी थाना परिसर के निकट ही किराये के एक मकान से परिवादी से बतौर रिश्वत दस हजार रुपये लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। शिक्षा पदाधिकारी को पूछताछ के लिए यहां ब्यूरो मुख्यालय लाया गया, जबकि दारोगा को मुजफ्फरपुर स्थित ब्यूरो कार्यालय ले जाया गया है। पूछताछ के बाद शिक्षा पदाधिकारी को पटना स्थित ब्यूरो की अदालत में पेश किया जायेगा वहीं दारोगा को ब्यूरो की मुजफ्फरपुर की अदालत में पेश किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here