भ्रष्टाचार छिपाने को राजद कर रहा हंगामा : मोदी

0
149

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शुक्रवार को सदन में राजद सदस्यों द्वारा लालू को झूठे मामले में फंसाने की दलील दिए जाने को लेकर कहा कि समाचार को तोड़ मरोड़ कर दलील दी जा रही है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2008 के पुराने मामले का जिक्र किया जा रहा है जब देश में यूपीए की सरकार थी। उन्होंने कहा कि राजद सदस्य सदन में हंगामा कर अपना भ्रष्टाचार छिपाना चाहते हैं। श्री मोदी ने विधान परिषद में अपने सरकारी कक्ष में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2008 में यूपीए सरकार के दौरान सीबीआई की लीगल सेल का हवाला देकर राजद सदस्य हंगामा कर रहे हैं किंतु वर्ष 2017 में सीबीई द्वारा उठाए कदम को नहीं देख रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि वर्ष 2008 में सीबीआई के लीगल सेल की टिप्पणी की वर्ष 2017 में सीबीआई ने बारीकी से जांच की। जांच में सीबीआई ने पाया कि होटल आवंटन में गड़बड़ी की गई है और इस आधार पर एफआईआर दर्ज किया गया है। सीबीआई ने गहनता से जांच कर बड़े पैमाने पर अनियमितता उजागर किया है। श्री मोदी ने कहा कि यदि अनियमिता नहीं होती तो लालू बताएं कि क्यों प्रेमचन्द्र गुप्ता ने अपनी कीमती जमीन तेजस्वी यादव को सौंप दी? इस जमीन पर 750 करोड़ का मॉल बनने का मामला सामने आया। जांचोपरांत सीबीआई व ईडी ने मनी लॉड्रिंग का भी मामला दर्ज किया है। आईटी ने कई संपत्तियां भी जब्त करने की कार्रवाई की है। श्री मोदी ने कहा कि विधानमंडल में हंगामा कर राजद सदस्य अपना भ्रष्टाचार छिपाना चाहते हैं। जांच एजेंसियों को अपना काम करने देना चाहिए।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अररिया संसदीय क्षेत्र से राजद प्रत्याशी सरफराज आलम की जीत के बाद उनके इस्लामनगर स्थित आवास के सामने भारत विरोधी नारे लगने वाले वीडियो के सामने आने से साफ हो गया कि महज एक चुनावी सफलता के लिए संवेदनशील सीमांचल क्षेत्र में विपक्ष ने किन ताकतों से हाथ मिलाया और वह किनके मंसूबे पूरे करना चाहता है। भाजपा देशद्रोही तत्वों की सियासी साठगांठ के विरुद्ध संघर्ष जारी रखेगी। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि राष्ट्रीय अस्मिता पर गर्व के साथ विकास के एजेंडे पर काम करने वाली एनडीए सरकार को हटाने के लिए बसपा, सपा, राजद और कांग्रेस देश को जातीय-धार्मिक आधार पर तोड़ने वाली ताकतों से हाथ मिला रही है। भ्रष्टाचार के गंभीर मामलों में घिरे सभी दल जांच एजेंसियों से बचने के लिए एक-दूसरे पर लगाये आरोप भुलाकर साथ आ गए हैं। श्री मोदी ने कहा कि सोनिया गांधी का भोज खाने के बाद भ्रष्टाचार समर्थक दलों में नई ऊर्जा दिख रही है। केंद्र सरकार ने गुरुवार को ग्रेच्युटी (संशोधन) विधेयक लोकसभा से पारित कराया, जिससे अब निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को भी 20 लाख रुपये तक की ग्रेच्युटी टैक्स-फ्री मिल सकेगी। पहले निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को कर-मुक्त ग्रेच्युटी देने की सीमा 10 लाख रुपये थी। विपक्ष इस बिल को भी रोकने के लिए हंगामा करता रहा। गतिरोध के बावजूद सरकार की पहल से सेवा क्षेत्र के लाखों लोगों को लाभ होगा।

यह भी पढ़े  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बदल रहा देश : मांडविया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here