भिखारी ठाकुर की जयंती पर ‘‘बिदेशिया’ का मंचन

0
73

भोजपुरी के लोक कलाकार भिखारी ठाकुर की 131वीं जयंती पर 18 दिसंबर को बिहार संगीत नाटक अकादमी और निर्माण कला मंच के संयुक्त तत्वावधान में राजेंद्र नगर स्थित प्रेमचंद रंगशाला में भिखारी ठाकुर जयंती समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर भिखारी ठाकुर की कालजयी कृति बिदेशिया की 708वीं प्रस्तुति संजय उपाध्याय के निर्देशन में निर्माण कला मंच, पटना द्वारा दी गई। मंच नाटक से पहले निर्माण कला मंच, पटना के बैनर तले प्रेमचंद रंगशाला के बाह्य परिसर में शरद जोशी द्वारा लिखित नाटक ‘‘अंधों का हाथी’ का प्रदर्शन किया गया।इससे पहले भिखारी ठाकुर जयंती समारोह 2018 की शुरुआत विधिवत रूप से बिहार संगीत नाटक अकादमी के सचिव विनोद अनुपम ने दीप जलाकर की। इस मौके पर संजय उपाध्याय, विभा सिन्हा, चंदन तिवारी, रामदास राही और यशवंत सिन्हा समेत अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद थे। भिखारी ठाकुर का स्मरण करते हुए विनोद अनुपम ने कहा कि भिखारी ठाकुर ने भोजपुरी भाषा को नियंतण्र पहचान दिलाई। यही वजह है कि उन्हें भोजपुरी का शेक्सपीयर भी कहा जाता है। हमें गर्व है कि भिखारी ठाकुर बिहार में हुए और हम इसी गौरवशाली बिहार की धरती में पैदा हुए। बिदेशिया नाटक में सूत्रधार की भूमिका में राजेश कुमार उर्फ पप्पू ठाकुर थे।

यह भी पढ़े  डॉ बिंदेश्वर पाठक को मिला अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार, 13 जून को तोक्यो में मिलेगा निक्की एशिया पुरस्कार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here