‘भारत माता की जय’ में कोई दिक्कत नहीं लेकिन ‘वंदे मातरम्’ नहीं गा सकता

0
114

राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने रविवार को एक ऐसा बयान दिया है जो जुनावी मौसम में महागठबंधन को नुकसान पहुंचा सकता है।। उन्होंने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया कि उन्हें ‘भारत माता की जय’ बोलने में कोई परेशानी नहीं है लेकिन राष्ट्रगीत ‘वंदे मातरम’ गाना उनकी आस्था के खिलाफ है। दरभंगा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे सिद्दीकी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की सार्वजनिक रूप से निंदा करने की चुनौती भी दी।

अब्दुल बारी सिद्दिकी ने गोडसे को देश का ‘पहला आतंकवादी’ करार दिया। सिद्दीकी ने कहा, ‘जो एकेश्वर में विश्वास रखता है वह कभी भी ‘वंदे मातरम’ नहीं गाएगा।’ हालांकि उन्होंने कहा कि उन्हें ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाने में कोई समस्या नहीं है। RJD नेता ने गोडसे के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ कथित संबंधों के संदर्भ में कहा, ‘महात्मा गांधी का हत्यारा नाथूराम गोडसे देश का पहला आतंकवादी था। क्या मोदी सार्वजनिक रूप से गोडसे की निंदा करेंगे?’

यह भी पढ़े  रात 12 बजे तक चला सदन, लेकिन मौजूद रहे सिर्फ 100 सांसद

आपको बता दें कि दरभंगा से आपको बता दें कि दरभंगा से 3 बार सांसद रह चुके कीर्ति आजाद इस बार झारखंड के धनबाद से चुनाव लड़ रहे हैं। दरअसल, भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर हाल ही में कांग्रेस का दामन थामने वाले कीर्ति की यह सीट महागठबंधन में राष्ट्रीय जनता दल के खाते में चली गई थी। इस तरह यहां मुख्य मुकाबला RJD के उम्मीदवार अब्दुल बारी सिद्दिकी और भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार गोपाल जी ठाकुर के बीच है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस ने सिद्दिकी के ‘वंदे मातरम्’ पर दिए गए इस बयान से किनारा कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here