भारत बंद’ को बिहार में सफल बनाने का विपक्षी दलों ने लिया संकल्प

0
194
FILE PHOTO

बिहार के विपक्षी दलों ने पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की बढ़ी कीमतों के विरुद्ध कांग्रेस के सोमवार को बुलाये गये ‘भारत बंद’ को सफल बनाने का रविवार को संकल्प लिया. पटना स्थित कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय सदाकत आश्रम में आज राजद, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम), रांकपा सहित विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं के साथ पत्रकारों को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने विभिन्न व्यापार और उद्योग संगठनों से पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की बढ़ी कीमतों के विरुद्ध अपनी पार्टी के सोमवार को बुलाये गये ‘भारत बंद’ को सफल बनाने की अपील की.

इस अवसर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह, एमएम झा एवं प्रेमचंद मिश्र, राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे, हम के प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल, समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव, समाजवादी जनता पार्टी (चंद्रशेखर गुट) के राष्ट्रीय संयोजक विशेश्वर नाथ सिंह, राकांपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह और लोकतांत्रिक जनता दल के प्रदेश महासचिव शिवशंकर कुशवाहा उपस्थित थे.

यह भी पढ़े  केंद्र नहीं चाहता दलितों को हक मिले : तेजस्वी

कौकब ने कहा कि कल सुबह नौ बजे से अपराहण तीन बजे तक बंद के दौरान दवा की दुकानें, चिकित्सा सेवाओं के एम्बुलेंस और स्कूल बसें उसके दायरे से बाहर रहेंगी. उन्होंने कहा कि संप्रग शासन के दौरान 16 मई, 2014 को बैरल जबकि कच्चे तेल की कीमत 107 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल थी तब पेट्रोल और डीजल की कीमत क्रमश: 71.41 रुपये और 55.4 9 रुपये प्रति लीटर थी आज जबकि कच्चे तेल की कीमत घटकर 73 अमेरिकी डॉलर हो गया है तो पेट्रोल और डीजल की कीमत क्रमश: 86 रुपये और 78 रुपये प्रति लीटर है.

कौकब ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान पिछले 52 महीनों में रसोई गैस की कीमत में 340 रुपये की बढ़ोतरी की गयी जबकि रेलवे किराया 6 रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़कर अब 9 रुपये प्रति किलोमीटर हो गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र में सत्तासीन भाजपा और उनके सहयोगी दलों को पेट्रोलियम पदार्थों की दाम में वृद्धि और उसके कारण बढ़ी मंहगाई से आम आदमी की बढ़ी परेशानी की जरा भी चिंता नहीं है.

यह भी पढ़े  वर्ष में दूसरी बार सिख धर्म का संदेश देगा तख्त हरिमंदिरजी

यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस पेट्रोलियम पदार्थ के दाम में वृद्धि को लेकर चिंता जता चुकी बिहार में भाजपा के साथ सत्तासीन जदयू से भी कल के बंद का समर्थन करने की अपील करेगी, कौकब ने कहा कि राजग के घटक दल जदयू को चाहिए कि वह जनता को राहत पहुंचाने के लिए पेट्रोलियम पदार्थ पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में कटौती करने के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बनाये.

पूर्वे कहा कि सोमवार के बंद को प्रखंड स्तर से जिला स्तर पर सफल बनाने के लिए पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं से कहा गया है. हम सेक्युलर के प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल ने कहा कि कल का बंद मोदी के लिए एक संदेश होगा कि हम ‘आंधी’ के रूप में उभरेंगे जो सरकार धूल चटा देंगे. इस बीच वामदलों ने भी सोमवार को भारत बंद को लेकर आज यहां अलग से संयुक्त बैठक की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here