भारत ने जीती लगातार रिकॉर्ड नौवीं सीरीज

0
10

टीम इंडिया ने लगातार नौंवीं सीरीज जीत आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के विश्व रिकॉर्ड की बाराबरी की श्रीलंका ने दूसरी पारी में बनाए पांच विकेट पर 299 रन ,धनंजय सिल्वा ने खेली 119 रन की नाबाद पारी, रोशन सिल्वा ने जमाया नाबाद अर्धशतक ,विराट कोहली बने मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज ,अश्विन से सीरीज में झटके सर्वाधिक 12 विकेट

श्रीलंकाई बल्लेबाजों धनंजय डिसिल्वा और अपना पहला टेस्ट खेल रहे रोशन सिल्वा की धैर्य और संकल्पूर्ण बल्लेबाजी के दम पर मेहमान टीम ने फिरोजशाह कोटला में खेले गए तीसरे टेस्ट के अंतिम दिन बुधवार को मैच ड्रा करा लिया। लेकिन टीम इंडिया ने तीन मैचों की सीरीज 1-0 से अपने नाम कर लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीतने के आस्ट्रेलिया के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। भारतीय गेंदबाजों ने धनंजय डिसिल्वा, रोशन सिल्वा और निरोशन डिकवेला की धैर्य की कड़ी परीक्षा ली पर वह विकेट हासिल करने में सफल नहीं हो पाए। श्रीलंका ने आखिरकार अपनी दूसरी पारी में पांच विकेट पर 299 रन बनाकर मैच ड्रा करा लिया। विराट ने सीरीज में तीन शतकों सहित कुल 615 रन बनाए। जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला। इन तीन शतकों में दो दोहरे शतक भी शामिल हैं।कूल्हे में तकलीफ के कारण रिटार्यड हर्ट होने वाले धनंजय डिसिल्वा ने 119 रन की शानदार शकतीय पारी खेली। उन्होंने अपनी पारी में 219 गेंदों का समाना किया अैर 15 चौके और एक छक्का जड़ा। उन्होंने कप्तान दिनेश चंदीमल (36) के साथ पांचवें विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। इसके बाद उन्होंने रिटार्यड हर्ट होने से पहले रोशन सिल्वा के साथ 58 रन की साझेदारी भी। इसके बाद रोशन सिल्वा और निरोशन डिकवेला ने श्रीलंका को आगे कोई झटका नहीं लगने दिया। दोनों ने छठे विकेट के लिए 99 रन की साझेदारी कर मैच को ड्रा करा लिया। रोशन सिल्वा ने 154 गेंद में 11 चौकों की मदद से 74 रन की नाबाद पारी खेली जबकि निरोशन डिकवेला ने अपनी नाबाद 44 रन की पारी में छह चौके जमाए। भारतीय कप्तान विराट कोहली जब सात अनिवार्य ओवर बचे थे तभी मैच ड्रा कराने पर राजी हो गए। भारत की ओर से रविंद्र जडेजा ने 59 रन देकर तीन विकेट हासिल किए। मोहम्मद शमी ने 50 जबकि रविचंद्रन अश्विन ने 126 रन देकर एक-एक विकेट चटकाया।श्रीलंका ने दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 31 रन से की। भारत ने जल्दी ही पहली सफलता भी हासिल कर ली जब दिन के छठे ओवर में एंजेलो मैयूज को रविंद्र जडेजा ने स्लिप में खड़े अजिंक्या रहाणो के हाथों कैच आउट कराया। मैयूज हालांकि दुर्भाग्यशाली रहे क्योंकि जडेजा की जिस गेंद पर आउट हुए वह नोबाल थी। बाद में टीवी रीप्ले में दिखा कि जडेजा का पैर क्रीज से बाहर था और यह नोबाल थी लेकिन मैदानी अंपायर जोएल विल्सन इसे देख नहीं पाए। मैयूज महज एक रन ही बना सके। इसके बाद जडेजा ने चंदीमल को भी 24 रन के स्कोर पर बोल्ड कर दिया था लेकिन यह नोबाल हो गई। चंदीमल हालांकि लंच के बाद ज्यादा देर नहीं टिक पाए और अश्विन की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में बोल्ड हो गए। उन्होंने 90 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे।भारत की फील्डिंग आज फिर काफी लचर रही। उन्होंने रोशन सिल्वा और डिकवेला दोनों के आसान कैच छोड़े। रोशन सिल्वा जब 11 रन के स्कोर पर खेल रही थे तब अश्विन अपनी ही गेंद पर उनका कैच पकड़ने में असफल रहे। इस बीच डिसिल्वा को कूल्हे में तकलीफ के कारण 119 रन के निजी स्कोर पर रिटार्यड हर्ट होकर वापस लौटना पड़ा। इस समय टीम का स्कोर पांच विकेट पर 205 रन था। इसके बाद डिकवेला को भी 32 रन पर जीवनदान मिला जब वह जडेजा की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में पूरी तरह से चूक गए। विकेटकीपर रिद्धिमान साहा भी गेंद पकड़ नहीं पाए और स्टंप का एक आसान मौका गंवा दिया। रोशन व डिकवेला ने इसके बाद आखिर तक भारतीय गेंदबाजों को विकेट हासिल नहीं करने दिया। जिससे बाद कप्तान विराट मैच ड्रा कराने पर सहमत हो गए।

 

यह भी पढ़े  विराट कोहली ने टेस्‍ट करियर का 19वां शतक बनाया, टीम इंडिया 400 रन के करीब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here