भारत के विरोध के बाद फिलिस्तीन ने राजदूत को बुलाया वापस

0
55

पाकिस्तान में मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड एवं जमात उद दावा के सरगना हाफिज सईद की रैली में फलस्तीन के राजूदत की मौजूदगी पर भारत के कड़े विरोध के बाद फलस्तीन ने पाकिस्तान से अपने राजदूत को वापस बुला लिया है. सईद की रैली में फलस्तीनी राजदूत के शामिल होने को भारत ने ‘अस्वीकार्य’ बताया. विदेश मंत्रालय में भारत के आर्थिक मामलों के सचिव विजय गोखले ने दिल्ली स्थित फलस्तीनी राजदूत अदनान अबू अल हाइजा को यहां साउथ ब्लॉक बुलाया. इसके बाद मंत्रालय ने कहा कि दोनों जगह-नयी दिल्ली में फलस्तीनी राजदूत और रामल्ला में फलस्तीनी विदेश मंत्री को भारत की चिंता से अवगत कराया गया.

मंत्रालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘भारत सरकार ने फलस्तीनी पक्ष को कड़े शब्दों में कहा कि 29.12.2017 को रावलपिंडी में एक कार्यक्रम में आतंकवादी सईद, जिसे संयुक्त राष्ट्र ने निषिद्ध कर रखा है, के साथ पाकिस्तान में मौजूदा फलस्तीनी राजदूत का जुड़ाव अस्वीकार्य है.’ इसने कहा कि फलस्तीनी पक्ष ने घटना पर ‘गहरा खेद’ व्यक्त किया और भारत को आश्वासन दिया कि वे कार्यक्रम में अपने राजदूत की मौजूदगी पर गंभीर संज्ञान ले रहा है.

यह भी पढ़े  भारतीय बच्चों को गोद लेने के नियमों पर पुनर्विचार हो : मोदी

विज्ञप्ति में कहा गया, ‘उन्होंने कहा है कि वे मामले से उचित रूप से निपटेंगे. यह भी कहा गया कि भारत के साथ अपने संबंधों को फलस्तीन काफी अहमियत देता है, तथा हम उन लोगों का साथ नहीं देंगे जो भारत के खिलाफ आतंकी कृत्य करते हैं.’ सरकार ने फलस्तीनी राजनयिक द्वारा दिए गए आश्वासन को संज्ञान में लिया है जिन्होंने भारत को सूचित किया कि उनकी सरकार ने पाकिस्तान से अपने राजदूत वलीद अबू अली को वापस बुलाने का फैसला किया है.

हाइजा ने अपनी बैठक के बाद कहा कि सईद की रैली में शामिल होने के मुद्दे पर अली को वापस बुला लिया गया है. शीर्ष फलस्तीनी राजनयिक ने कहा कि भारत और फलस्तीन के नजदीकी एवं मित्रतापूर्ण संबंधों को देखते हुए अली का कदम ‘अस्वीकार्य’ है और उन्हें सामान पैक करने तथा इस्लामाबाद से वापस आने के लिए कुछ दिन का समय दिया गया है. हाइजा ने कहा, ‘फलस्तीन सरकार ने अली को बता दिया है कि वह अब पाकिस्तान में उसके राजनयिक नहीं हैं.’

यह भी पढ़े  रूसी चैनल ने जताई तीसरे विश्‍वयुद्ध की आशंका, लोगों से कहा तैयार हो जाओ

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में मौजूद फिलिस्तीन के राजदूत वालीद अबू अली ने शुक्रवार (29 दिसंबर) को रावलपिंडी के लियाकत बाग में दिफाह ए पाकिस्तान काउंसिल द्वारा आयोजित एक रैली में आतंकवादी संगठन जमाद उद दावा प्रमुख हाफिद सईज के साथ मंच साझा किया था. दिफाह ए पाकिस्तान काउंसिल धार्मिक एवं चरमपंथी समूहों का संगठन है जिसका प्रमुख मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद है.

 पाकिस्तानी अखबार द नेशन डेली की खबर के मुताबिक, दफा-ए-पाकिस्तान काउंसिल की रावलपिंडी में स्थित केंद्रीय नेतृत्व ने कश्मीर और फिलिस्तीन की आजादी के लिए राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू करने की घोषणा की है. रिपोर्ट में अली के हवाले से बताया गया, “फिलिस्तीन के पास पाकिस्तान का समर्थन होने से हम अकेला महसूस नहीं कर रहे हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here