भाजपा व नीतीश कर रहे नकारात्मक राजनीति :तेजस्वी

0
74
TEJASWI YADAV AND RABRI DEVI KA PRESS CONFRENCE

विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने शनिवार को कहा कि नीतीश कुमार और भाजपा नकारात्मक राजनीति कर रही है, जिसका परिणाम है राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद झूठे मामले में जेल में हैं, लेकिन बिहार की जनता वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में इसका जवाब देगी। श्री यादव शनिवार को राबड़ी देवी के आवास पर पार्टी पदाधिकारियों की चार घंटे चली बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि विधानसभा के चुनाव में जनता ने जिसे वोट देकर चुना वह आज जेल में हैं और जिसे नहीं चुना वह सरकार चला रहे हैं। प्रदेश की जनता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भाजपा की इस नकारात्मक राजनीति को बेहतर ढंग से समझ रही है और समय आने पर इसका करारा जवाब देने के लिए तैयार है। बदली हुई परिस्थिति में पार्टी पूरी तरह से एकजुट है और किसी तरह के संघर्ष के लिए तैयार है। प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि राजद अध्यक्ष के जेल जाने के बाद कुछ लोगों के पेट में इस बात को लेकर दर्द हो रहा है कि राजद का क्या होगा लेकिन पार्टी पर जब भी संकट आया है तो कार्यकर्ता और नेता पूरी एकजुटता के साथ सामने आये हैं। कुछ लोग भले ही लालू प्रसाद के जेल जाने से खुश हों लेकिन उनके लिए ‘‘काल अभी जन्मा है।’ उन्होंने कहा कि पटना में पिछले वर्ष 27 अगस्त को पार्टी की रैली के बाद से ही भाजपा और आरएसएस को लगने लगा था कि अब बिहार में उनकी दाल गलने वाली नहीं है। श्री यादव ने कहा कि रैली में 18 से 19 विपक्षी पार्टियों ने एकजुटता दिखायी थी और इससे स्पष्ट संकेत भी भाजपा और आरएसएस को गया था। इससे भाजपा घबरा गयी थी। जिस तरह से गुजरात विधानसभा चुनाव का परिणाम आया उससे भी भाजपा में घबड़ाहट स्पष्ट दिखी। राजद अध्यक्ष को एक साजिश के तहत फंसाया गया है। प्रतिपक्ष के नेता ने कटाक्ष करते हुए कहा कि राजद अध्यक्ष यदि भाजपा के साथ मिले होते तो आज वह राजा हरिश्चन्द्र होते। नकारात्मक राजनीति भाजपा और नीतीश कुमार कर रहे हैं। राजद अध्यक्ष ने कभी भी अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया और इसी का नतीजा है कि उन्हें झूठे मामले में फंसाया गया। राजद अध्यक्ष ने बिहार और देश को बचाने के लिए नीतीश कुमार से हाथ मिलाया था, लेकिन नीतीश कुमार ने बीच में ही पलटी मार दी। श्री यादव ने कहा कि राजद अध्यक्ष को बिहार के लोग भलीभांति जानते हैं और यही कारण है कि आज पूरे प्रदेश में उनकी ही र्चचा हो रही है। लालू प्रसाद के जेल में रहने से किसी पर असर पड़े न पड़े लेकिन भाजपा और जदयू पर असर जरूर पड़ेगा। वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में जनता बटन दबाकर इन पार्टियों का सफाया कर देगी। प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि आज की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि प्रथम चरण में जेल से भेजे राजद अध्यक्ष के संदेश को गांव -गांव और घर-घर तक पहुंचाना है। इसके लिए जिला से लेकर प्रखंड स्तर तक के कार्यकर्ता लालू प्रसाद के इस संदेश को छपवा कर लोगों को सरलता से उपलब्घ करायें जिससे कि उनके खिलाफ की गयी साजिश की जानकारी सभी लोगों को हो सके। इसके बाद दूसरे चरण में 14 जनवरी के बाद पार्टी के सभी नेता गांव-गांव का दौरा करेंगे और लालू प्रसाद के खिलाफ की गयी साजिश की सच्चाई से लोगों को अवगत करायेंगे। श्री यादव ने कहा कि न्यायालय का वह सम्मान करते हैं। आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में उच्चतम न्यायालय से राजद अध्यक्ष बरी हो गये हैं। न्यायालय का जो भी फैसला आता है वह उसका सम्मान करते हैं और इसके खिलाफ उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय में जाने का विकल्प खुला हुआ है। अभी जो फैसला आया है उसका अध्ययन करने के बाद उच्च न्यायालय में जायेंगे। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कांति सिंह, प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूव्रे , पूर्व सांसद मंगनी लाल मंडल , जगदानंद सिंह , विधायक विजय प्रकाश , शिवचन्द्र राम , शक्ति यादव , निराला यादव , चितरंजन गगन समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे। इससे पूर्व चारा घोटाले के एक मामले में झारखंड के रांची जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की अनुपस्थिति में पार्टी की रणनीति तय करने के लिए राबड़ी देवी के दस सकरुलर रोड स्थित सरकारी आवास पर राजद के शीर्ष नेताओं की अहम बैठक हुई। इसमें पार्टी के सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, विधान पार्षद, पूर्व विधान पार्षद, लोकसभा एवं विधानसभा का चुनाव लड़ चुके प्रत्याशियों, पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी, कार्य समिति के सदस्य, सभी जिलाध्यक्षों, प्रखंड अध्यक्षों और विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्ष उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  पटना में हवाला रैकेट का पर्दाफाश, गुजरात के हीरा कारोबारी समेत 4 गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here