भाजपा खत्म करना चाहती है आरक्षण : तेजस्वी यादव

0
195
PATNA S K MEMORIAL HALL MEIN NISADH RAJNITIC JAGRUKTA SAMMELAN MEIN EX DY CM TEJASVI YADAV AND OTHER

प्रतिपक्ष के नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने शनिवार को श्रीकृष्ण स्मारक भवन में आयोजित निषाद राजनैतिक जागरूकता सम्मलेन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा संविधान को बदल कर दलित, पिछड़े और अत्यंत पिछड़ों को संविधान में दिये गये आरक्षण के अधिकार को समाप्त करना चाहती है। संविधान की रक्षा हम सब आपसी एकता बना कर करेंगे और तमिलनाडु के तर्ज पर आरक्षण का विस्तार 70 प्रतिशत तक कराएंगे। उन्होंने इस अवसर पर शहीद जुब्बा सहनी की कुर्बानी को नमन करते हुए कहा कि उनके पिता लालू प्रसाद ने लोगों का जुब्बा सहनी की कुर्बानियों से अवगत कराया और उनके नाम पर पार्क व कई स्मारक बनवाकर उन्हें सम्मानित किया। निषाद जाति को राजनीतिक हिसादरी दी, उनके अंदर राजनीतिक चेतना को जगाया। समाज में जिन्हें खटिया पर बैठने नहीं दिया जाता था, कुएं से पानी निकालने नहीं दिया जाता था, उन्हें समाज से जोड़ा, उन्हें अधिकार दिलाया। मंडल आयोग लागू करवा कर गरीब, पिछड़े को समाज में मान सम्मान और सत्ता मे भागीदारी दिलाई। उन्होंने कहा कि आज अप्रत्यक्षरूप से आरक्षण समाप्त किया जा रहा है। शिक्षा, रोजगार और राजनीति में आरक्षण खत्म किया जा रहा है। 85 प्रतिशत वालों के लिये 49 प्रतिशत और 15 प्रतिशत वालों के लिये 51 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने निषाद को अनुसूचित जाति में शामिल किये जाने की मांग को नकार दिया है। केन्द्र नया कानून बना कर अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़ों को दी जाने वाली सुरक्षा की रक्षा करे। भाजपा शासित राज्यों में अनुसूचित- जनजाति पर अधिक जुल्म हो रहे हैं। दो अप्रैल को होने वाले बिहार बंद को कामयाब करें। संविधान की रक्षा, आरक्षण को बचाने, बेहतर बिहार बनाने के लिये हम सब एकजुट हो जाएं। मनुवादी, सामंतवादी सोच ने हमसब को अलग अलग कर दिया है। आइये, लालू जी ने जो गरीबों, अभिवंचितों के लिए समाज में सम्मान और सत्ता में भागीदारी की लड़ाई लड़ी है उसे जारी रखने और लालू जी के हाथ को मजबूत करने का संकल्प लें। हमलोग समाज के जिस वर्ग की जो हिसादरी सत्ता, समाज में बनती है वह उन्हें दिलाएंगे।

यह भी पढ़े  नीतीश कुमार चीफ मिनिस्टर नहीं, चीट मिनिस्टर हैं : तेजस्वी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here