भागलपुर के लेखापाल की वैशाली में हत्या

0
238

ट्रेन से गायब भागलपुर के अलीगंज निवासी सूरज नारायण दास की हत्या कर दी गई है। वे गोपालगंज में खनन विभाग में लेखापाल के पद पर पोस्टेड था। खास बात कि हाजीपुर सदर अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम भी करा दिया गया। तीन दिन बाद अज्ञात शव समझकर अंतिम संस्कार भी कर दिया। मामले में लेखापाल की बेटी किरण कुमारी ने हत्या की बात कही है। उसने रेल पुलिस को जांच में शिथिलता बरतने का आरोप भी लगाया है। इधर, रेल पुलिस इस मामले में पकड़े गए एक आरोपित के कॉल डिटेल में ही उलझी रही।

मृतक की बेटी किरण कुमारी का यह है कहना
मृतक की बेटी किरण कुमारी ने बताया कि 19 दिसंबर की सुबह वैशाली जिले के लालगंज स्थित एबीएस कॉलेज के पास बदमाशों ने लूटपाट करने के बाद अधमरा कर फेंक दिया था। लालगंज पुलिस ने अज्ञात समझकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। इसके बाद 20 दिसंबर को हाजीपुर सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां 21 की सुबह लेखापाल की मौत हो गई। परिजन ने बताया कि 21 दिसंबर की दोपहर शव का पोस्टमार्टम कराया गया। तीन दिन तक शव की शिनाख्त नहीं होने पर अंतिम संस्कार कर दिया गया।

यह भी पढ़े  बीजेपी के एक नेता को कोर्ट में पेशी के दौरान सेल्फी लेना खासा महंगा

सीसीटीवी से हुई पहचान
लेखापाल सूरज नारायण दास के शव के पोस्टमार्टम कराने के दौरान सीसीटीवी में आए फुटेज से परिजन ने पहचान की। परिजनों ने कहा कि जरूरी कागजी कार्रवाई की गई है। शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। बेटी ने कहा कि रेल पुलिस इस कांड में दिलचस्पी लेती तो शायद पिताजी का पता चल जाता।

घटना पर एक नजर
– 18 दिसंबर की रात 10 बजे लेखापाल सूरज नारायण दास घर से गोपालगंज जाने के लिए निकले थे।
– घरवालों की आखिरी बार बात 18 की रात 10.30 बजे हुई थी।
– 21 दिसंबर को बेटी किरण कुमारी ने रेल थाने में गुमशुदगी की सूचना दी थी।
– चार दिन बाद प्राथमिकी दर्ज कराई।
-19 दिसंबर की सुबह रेल पुलिस को लेखापाल के मोबाइल का लोकेशन मुजफ्फपुर के कुढऩी का मिला।
– 31 दिसंबर को बेलसर थाना क्षेत्र से सलाउद्दीन को लेखापाल के मोबाइल के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा।
– 05 जनवरी को परिजन लापता का पर्चा लेकर फिर से खोजबीन शुरू की।

यह भी पढ़े  कोर्ट से फरार होकर आतंक बन चुका था 'हीरो', पुलिस-एसटीएफ ने एनकाउटंर में मार गिराया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here