बोले सो निहाल सतश्री अकाल से गूंजा शहर,तीन दिवसीय उत्सव 13 जनवरी को संपन्न होगा

0
125

सिखों के दसवें गुरु के जन्म स्थान तख्त हरमंदिर पटना साहिब में यहां शुक्रवार को गुरु गोविंद सिंह का 352वां प्रकाश पर्व शुरू हो गया. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना से 110 किलोमीटर दूर राजगीर में सिखों के पहले गुरू नानक देव की याद में एक गुरुद्वारा की आधारशिला भी रखी. गुरू नानक देव का 550 वां प्रकाश पर्व इस साल मनाया जा रहा है.

विभिन्न स्थानों से सिख श्रद्धालु तख्त हरमंदिर पटना साहिब में मत्था टेकने आए. तीन दिवसीय उत्सव 13 जनवरी को संपन्न होगा. गंगा नदी से लगे कंगन घाट के पास टेंट सिटी का निर्माण किया गया है, जहां 5,000 श्रद्धालु ठहर सकते हैं.

दो साल पहले 350 वें प्रकाश पर्व पर दुनिया भर से सिख श्रद्धालु यहां आए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई विशिष्टगण भी आए थे. राजगीर में शीतल कुंड में गुरूद्वारा की आधारशिला रखते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी सरकार ने 12 नवंबर को अवकाश की घोषणा की है . उस दिन गुरू नानक जयंती मनायी जाएगी.

बोले सो निहाल सतश्री अकाल..राज करेगा खालसा आकी बचे न कोई.. के जयकारे के साथ शुक्रवार तड़के निकली बड़ी प्रभात फेरी के साथ दशमेश पिता श्रीगुरु गोविंद सिंह जी महाराज के तीन दिवसीय 352वां प्रकाशोत्सव समारोह शुरू हो गया। गुरु महाराज के 352 वें प्रकाश पर्व के मौके पर 1 जनवरी से प्रभात फेरी आरंभ हुई थी। आज 10वें गुरु महाराज की जन्मस्थली तख्त श्रीहरिमंदिर साहिब से निकली प्रभातफेरी तख्त हरिमंदिर से शुरू होकर चमडोरिया, हाजीगंज, पुलपर, मोर्चा रोड, पटना साहिब स्टेशन के रास्ते चौकशिकारपुर, मंगल तालाब, नई सड़क, चौक सब्जी बाजार होते हुए तख्त हरिमंदिर साहिब पहुंची। पंथ के झुलते निशान साहिब, पंज प्यारों की अगुवाई में निकली प्रभात फेरी में सिख संगतों के शबद-कीर्तन गायन से पूरा इलाका भक्ति से रससिक्त होता रहा। गुरु महाराज की महिमा का वखान करते शबद-कीर्तन से ही मानो आज शहर की सुबह हुई। दर्जनभर बैंड पार्टियों के साथ निकली प्रभात फेरी में स्थानीय श्रद्धालुओं के अलावा देश-विदेश से आए सिख संगतों ने भी बड़ी संख्या में भाग लिया। तख्त साहिब पहुंचने पर जत्थेदार भाई इकवाल सिंह ने आगवानी की। व्यवस्था के लिए सरदार दर्शन सिंह, सरदार तेजिन्द्र सिंह बग्गा, प्रेम सिंह, सरदार इंदरजीत सिंह बग्गा, रणजीत सिंह सहित अन्य लोग सक्रिय थे।

यह भी पढ़े  लालू की परेशानी के लिए राहुल जिम्मेवार : मोदी

दशमेश गुरु श्री गुरु गोविंद सिंहजी महाराज के तीन दिवसीय प्रकाशोत्सव में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने जहां तख्त साहिब में मत्था टेका, वहीं लंगर प्रसाद जमकर छका। तख्त साहिब में भी सुबह से ही अरदास, प्रवचन आदि के कार्यक्रम होते रहे। अहले सुबह तख्त साहिब के मर्यादा के अनुसार कार्यक्रम हुए। इसके बाद करीब दो घंटे तक भाई जोगिन्दर सिंह हजुरी रागी जत्था ने आशा दी वार का पाठ किया। अरदास, हुकुमनामा से जहां गुरुघर गुंजायमान था, वहीं विक्रम सिंह रागी, हुजुरी रागी जत्था के शबद-कीर्तन से संगत निहाल हुआ। लुधियाना वाले ज्ञानी रंजीत सिंह गौहर ए मशकीन ने गुरु शबद पर अपने विचार रखे। विलावल भाई ज्ञान सिंह रागी जत्था के कीर्तन से वातावरण गुरुमय हो गया। संत ज्ञानी गुरमीत सिंह कोटला वाले ने गुरु का इतिहास संगतों को सुनाया। कवि दरबार में स. बलवीर सिंह कोमल, पंजाब से स. चैन सिंह, अमृतसर के स. अवतार सिंह तारी, इंजी. करमजीत सिंह नूर (जालंधर), महिन्दर सिंह परिंदा आदि ने कवि दरबार की शोभा बढ़ायी। 

तीनों पाली में सफाई, सड़कों की हो रही धुलाई

पटना नगर निगम की साफ-सफाई की व्यवस्था नगर में दिखने लगी है। तीनों पाली में नगर की सड़कों पर निगम के कर्मचारी सफाई कर रहे हैं। रात्रि में गुरूघर के आसपास सहित पटना साहिब स्टेशन, गायघाट के इलाके में सड़कों की धुलाई की जा रही है। शनिवार को गायघाट से गुरू कीर्तन आरम्भ होगा। शोभायात्रा में शामिल होने वाले संगतों सहित आम श्रद्धालुओं के लिए निगम द्वारा पेयजल, अस्थायी यूरिनल का निर्माण कराया गया है। सफाई की निगरानी तीनों पाली में अधिकारी कर रहे हैं। मुख्य सफाई निरीक्षक संजीव वर्मा ने बताया कि निगम की ओर से सफाई, लाईट, पेयजल की व्यवस्था की गयी है। कोशिश है कि गुरू पर्व में अेने वाले श्रद्धालुओं को कोई पोशानी नहीं हो। निगम के अधिकारी और कर्मचारी तीनो पाली मे मुस्तैदी से कार्य कर रहे है।जगह-जगह लगाया सेवा शिविर : बड़ी प्रभात फेरी में शामिल सिख संगतों के स्वागत में नगर के श्रद्धालुओं ने हाजीगंज, चमडोरिया, मोर्चारोड, पटना साहिब आदि जगहों पर सेवा शिविर लगाया था। , मंगलतालाब, शहीद भगत सिंह चौक सहित अन्य स्थानों पर सामाजिक संगठनों ने शिविर लगाकर चाय-बिस्कु ट का वितरण किया। 

प्रकाशोत्सव के मौके पर जिलाधिकारी कुमार रवि ने शुक्रवार को कंगनघाट से पानी के जहाज लिली को गायघाट गुरुद्वारा के लिए रवाना किया। प्रकाशोत्सव में देश-विदेश से आने वाले सिख श्रद्धालु गायघाट गुरुद्वारा में मत्था टेकने के लिए नि: शुल्क कंगनघाट से पानी के जहाज लीली से गायघाट गुरुद्वारा जा सकेंगे। जिलाधिकारी ने सिख संगतों के साथ स्वयं मुस्तैद होकर लिली जहाज को रवाना किया। संगतों के स्वागत में जिलाधिकारी ने कहा जी मैं आयां नूं। जिलाधिकारी ने बताया कि पानी के जहाज लीली कंगनघाट से गायघाट के लिए सुबह 8 बजे से संध्या 5 बजे तक सिख श्रद्धालुओं एवं संगतों को नि: शुल्क 4 ट्रीप ले जाने और ला आने के लिए प्रत्येक दिन सफर करेगी। उन्होंने बताया कि लीली पानी के जहाज में दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गयी है। पानी के जहाज लीली को लाइफ जैकेट एवं अन्य सुविधाओं से लैस किया गया है। प्रत्येक ट्रीप में एसडीआरएफ की टीम वोट से जायेगी और आयेगी। आसाम से पहली बार तख्त साहिब में आयी संगत मनप्रीत कौर ने जिलाधिकारी को बताया कि मैं पहली बार श्री गुरु गोविंद सिंहजी महाराज के 352वें प्रकाश पर्व में मत्था टेकने आयी हूं। गायघाट गुरुद्वारा में मत्था टेकने नि: शुल्क पानी के जहजा से जा रही हूं। हमको और पूरे संगत को बहुत अच्छा लग रहा है। यहां की व्यवस्था बहुत अच्छी है। कंगनघाट स्थित टेंट सिटी में शौचालय, स्नानगृह, शुद्ध पेयजल, साफ-सफाई एवं आवासन की बहुत अच्छी व्यवस्था है। इसके लिए मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद देती हूं। मौके पर विशिष्ट अनुभाजन पदाधिकारी पंकज कुमार, अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था कृष्ण कन्हैया प्रसाद सिंह, वजैनउद्दीन, आशुतोष कुमार वर्मा, अनिल कुमार चौधरी, अजय ठाकुर, नजारत उपसमहर्ता राजेश कुमार, एसडीओ पटना सिटी राजेश रौशन सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़े  मुंगेर लोकसभा क्षेत्र के मोकामा व बाढ़ में मतदान आज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here