बोधगया में100 बेड का बनेगा विशिष्ट अतिथि भवन : नीतीश

0
15

केन्द्र सरकार के स्वदेश दर्शन योजना के तहत बननेवाले महाबोधि सांस्कृतिक केन्द्र के कार्यारंभ करते हुए सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यहां एक सौ बेड का विशिष्ट अतिथि भवन का निर्माण राज्य सरकार के कोष से किया जायेगा जहां बोधगया आने वाले विषिष्ट अतिथियों का आवासन होगा। कृषि फॉर्म के परिसर में सांस्कृतिक केन्द्र के कार्यारभ समारोह को संबोधित करते हुए शनिवार को उन्होंने कहा कि यह भवन 18 माह में बनकर तैयार होगी और बिहार दिवस के मौके पर 22 मार्च 2020 को इसका उद्घाटन होगा। कृषि फार्म परिसर में तारामंडल के साथ विशिष्ट अतिथि भवन और सांस्कृतिक केन्द्र बोधगया का मुख्य आकर्षण केन्द्र होगा। हम हमेंशा यहां आकर कायरें की समीक्षा करते हैं। उन्होंने जीविका के छह वैसे दीदियों को शॉल व कैसबुक देकर सम्मानित किया जिन्होंने अपने परिवार के शराब के धंघे को त्यागकर वैकल्पिक रोजगार किया है। उन्होंने कहा कि जीविका द्वारा शराबबंदी का जो कार्य किया जा रहा है वह सराहनीय है। जीविका के दीदियों ने वैसे लोगों को समझाकर शराब के धंधें से मुक्त किया, जो कल तक शराब के कारोबार में फंसे थे। हम उनके द्वारा राज्य स्तर पर वैसे लोगों की पहचान जीविका के माध्यम से कर रहे हैं उन्हें साठ हजार से लेकर एक लाख की सहायता देकर वैकल्पिक रोजगार के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इसके लिए सतत जीविकोपार्जन योजनाशुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि 2005 में सत्त में आने के बाद हमने विश्व बैंक की सहायता से जीविका की शुरुआत की थी। आज सबा आठ लाख स्वयं सहायता समूह बन चुके है और 83 लाख परिवार इससे जुडे हैं। केन्द्र की सरकार ने भी बिहार के इस मॉडल को अपनाया। उन्होंने जीविका दीदियों से कहा कि केवल कानून की कार्रवाई से शराबबंदी लागू नहीं हो सकती, इसके लिए जन चेतना जगाना जरुरी है। आपको इसके लिए अनवरत प्रयास करना होगा। आप शांत होकर मत बैठिए। उन्होंने कहा कि हमारी दिलचस्पी काम करके विकास करने में है। नीतीश कुमार ने कहा कि गांधीजी के विचारों पर आधारित सात वचनों को सभी भवनों पर अंकित करायेंगे। इससे पहले शिक्षामंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने कहा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विकास के लिए ही जाने जाते हैं। अब विकास के रफ्तार के कारण पहले का बिहार नहीं रहा। कृषिमंत्री डा. प्रेम कुमार ने कहा कि बिहार में तीसरा रोड मैप 2017 से शुरु है। उन्होंने बोधगया के व्यावसायिओं के समस्यओं के तरफ मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट किया और कहा कि यहां के लोगो की समस्या दूर होगी। सीएम ने उनके अनुरोध पर ट्रैफिक के रोक को कुछ दूर आगे ले जाने की बात कही। पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि केन्द्र सरकार के स्वदेश दर्शन योजना से बननेवाले कंवेशन सेन्टर से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बिहार को देश का सांस्कृतिक राजधानी कहा। दुनिया के लोग चाहे जिस धर्म में विास रखते हों उन्हें बिना बिहार आये मोक्ष नहीं है। यहां गोल्फ कल्व बनाने का सीएम से अनुरोध किया, जिससे जापानी पर्यटक आ सकें।उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार के योजना से बिहार की स्थिति बदल रही है। गया ऐसा पवित्र शहर है, जिसे लोग गयाजी कहकर संबोधित करते हैं। अनेक नगर निकायों में सम्राट अषोक भवन बनाया गया है। हर शहर में कंवेंशन सेन्टर होना चाहिए। बोधगया के डुगेष्वरी और गया के ब्रहम्योनी तथा प्रेतषिला में जल्द ही रोपवे निर्माण का कार्य शुरु होगा। वन विभाग से इसकी स्वीकृति मिलने का इंतजार है। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने गया बोधगया को देश की अध्यत्मिक राजधानी कहा। बोधगया कोई साधारण भूमि नहीं है। किसी स्थान पर शारीरिक तृप्ति हो सकती है, लेकिन यहा आत्मा की तृप्ति होती है यहां ज्ञान और मोक्ष की भूमि है। सभा को भवन निर्माण मंत्री माहेश्वर हजारी सीएम के सचिव चंचल कुमार ने भी संबोधित किया। इस मौके पर सांसद हरी मांझी, विधान पार्षद संजीव श्याम सिंह, बिनोद प्रसाद यादव, प्रमंडलीय आयुक्त मगध प्रमंडल आदि मौजूद थे। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

यह भी पढ़े  केरल में बाढ़ के कहर पर नीतीश ने जताया दुख, 10 करोड़ की मदद की घोषणा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here