बेटी की इज्जत बचाने के लिए पिता ने दी जान

0
56

मोतिहारी : कोटवा थाने के कररिया फतेह टोले में बेटी की इज्जत बचाने गये सुरेश पासवान पर मनचले ने जानलेवा हमला कर दिया. इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. पिता को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने वहां से पटना रेफर कर दिया. रविवार को उसकी मौत हो गयी. घटना को लेकर पत्नी शिवकली देवी ने पुलिस कैंप में आवेदन दिया है.
उसने पुलिस को बताया है कि उसके पुत्र राजन पासवान की शादी शुक्रवार को थी. बरात निकलने से पहले घर की औरतें आम-महुआ विवाह के लिए जा रही थीं. इसी बीच रास्ते में ग्रामीण बिट्टू पासवान, जितेंद्र पासवान, राजेंद्र पासवान व सूरज पासवान गलत नीयत से उसकी पुत्री का मुंह दबा कर बांसवारी में खींच ले गये.

उसके चिल्लाने की आवाज सुन पिता बचाने गये, तो उन पर चाकू से हमला कर दिया गया. पिता को बचाने गये पुत्र जीअन पासवान के अलावा रिश्तेदारों को चारों आरोपितों व उसके परिजनों ने फरसा, चाकू व गुप्ती से मार घायल कर दिया. घायलों में दो को सदर अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया. कोटवा के थानाध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बताया कि पुलिस कैंप से आवेदन नहीं आया है. आवेदन मिलने पर प्राथमिकी दर्ज की जायेगी.

यह भी पढ़े  पौने दो लाख क्यूसेक पहुंचा कोसी का डिस्चार्ज, कई गांव जलमग्न

जैसे-तैसे हुई शादी, 16 लोगों पर दर्ज हुई प्राथमिकी
बरात निकलने से पहले ही सुरेश सहित उसके परिजनों पर जानलेवा हमला हुआ. हमलावरों ने सभी को घायल कर 80 हजार का आभूषण लूट लिया. घटना के बाद राजन की बरात जैसे-तैसे निकली. कुछ लोग बरात लेकर जसौली पट्टी गये, जबकि कुछ लोग घायलों को लेकर सदर अस्पताल पहुंचे.
पल भर में शादी की खुशियां मातम में बदल गयीं. सदर अस्पताल में उसके परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. मृतक की पत्नी शिवकली देवी ने 16 लोगों को आरोपित किया है. उसने सभी पर दुष्कर्म का विरोध करने पर पति की पीट-पीट कर हत्या करने का आरोप लगाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here