बिहार सर्वधर्म समभाव की भूमि :मुख्यमंत्री

0
250
????????????????????????????????????

पटना सिटी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सर्वंशदानी दशमेश गुरु श्री गुरु गो¨वद सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाश पर्व के शुकराना समारोह का शनिवार को उद्घाटन किया। श्री कुमार ने बाइपास स्थित टेंट सिटी के दरबार हॉल में शुकराना समारोह का विधिवत उद्घाटन किया। उद्घाटन के बाद तख्त श्रीहरिमंदिर, पटना साहिब की ओर से मुख्यमंत्री को सरोपा, गुलदस्ता और प्रतीक चिह्न भेंटकर सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने ‘‘वाहे गुरु जी का खालसा, वाहे गुरु जी की फतेह’ पंक्ति से अपने संबोधन की शुरूआत करते हुए शुकराना समारोह में शरीक होने के लिए देश-दुनिया के विभिन्न हिस्सों से आये सिख श्रद्धालुओं को नमन एवं अभिनंदन किया। उन्होंने कहा कि मैं अपना सौभाग्य मानता हूं कि सर्वंशदानी दशमेश गुरु श्री गुरु गो¨वद सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाश पर्व का आयोजन एवं उसके शुकराना समारोह का आयोजन करने का मौका हमें मिला है। यह हम सब लोगों का धर्म और कर्तव्य है। गुरु की जन्म स्थली पटना साहिब है और यहां भव्य तरीके से प्रकाश पर्व का आयोजन हो रहा है, इसलिए हमें गर्व की अनुभूति हो रही है। यह हम सब बिहारवासियों के लिए भी यह गौरव की बात है।श्री कुमार ने कहा कि प्रकाश पर्व के जरिए सेवा करने का अवसर मिला है और हम पूरी तन्मयता से श्रद्धालुओं की सेवा कर रहे हैं लेकिन उससे ज्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि इसके जरिए हमें गुरु की सेवा करने का मौका मिला है। उन्होंने कहा कि प्रकाश पर्व के आयोजन से पूर्व देश-विदेश में बिहार की एक अलग छवि थी, लेकिन 350वें प्रकाश पर्व में जो श्रद्धालु बिहार आए और यहां जो उन्होंने देखा और समझा, उसके बाद लोगों का बिहार आने का सिलसिला शुरू हो गया। 350वें प्रकाश पर्व में बिहारवासियों की सेवा भावना देखकर आने वाले श्रद्धालुओं की न सिर्फ सोच बदली बल्कि बिहार के प्रति उनकी जो सोच थी, वह भी बदल गई। इसके बाद तय किया गया कि प्रकाश पर्व का शुकराना समारोह कर लोगों का शुक्रिया अदा करेंगे। मुख्यमंत्री ने बिहार को सर्वधर्म सम्भाव की भूमि बताया और कहा कि इसी भूमि पर भगवान बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ। यह पावन धरती भगवान महावीर की जन्मस्थली, ज्ञानस्थली और निर्वाण स्थली रही है और गुरु गो¨वद सिंह भी इसी बिहार में पैदा हुए। उन्होंने कहा कि बिहार में पैदा हुए गो¨वद राय सर्वंशदानी दशमेश पिता बन गए, जिन्होंने पूरे परिवार का दान कर दिया यह कोई मामूली बात नहीं है। श्री कुमार ने कहा कि सिख समुदाय के लोगों की आबादी करीब दो प्रतिशत है लेकिन यदि उनके योगदान को देखा जाए तो देश की सेना में 20 प्रतिशत सिख समुदाय के लोग हैं, जो देश की रक्षा करते हैं। वहीं, हरित क्रांति में सबसे बड़ा योगदान सिख समुदाय के लोगों का ही रहा है। उन्होंने कहा कि राजनीति, प्रशासन, खेल, संस्कृति हर जगह सिख समाज का योगदान अतुलनीय है। कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने टेंट सिटी में सामूहिक रुप से लंगर छका और सेवाएं दी। लंगर छकने के बाद मुख्यमंत्री तख्त हरिमंदिर साहिब पहुंचे और मत्था टेककर गुरुघर की खुशियां बटोरी। मुख्यमंत्री ने उन्हें सरोपा प्रदान दिया। इसके बाद वे कंगनघाट गये और टेंट सिटी में रह रहे श्रद्धालुओं का कुशलक्षेम पूछने के साथ निरीक्षण भी किया। कार्यक्रम में चिदानंद स्वामी, जैनधर्माचार्य, लोकेशमुनि, जत्थेदार इकबाल सिंह, केन्द्रीय राज्यमंत्री एसएस अहलुबालिया, हरदीप सिंह पूरी, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री नारायण मंडल, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक पीके ठाकुर सहित अन्य मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में अन्य सर्किट की तर्ज पर ही ‘‘गुरु सर्किट’ का विकास किया जा रहा है। गुरु से जुड़ी जगहों जैसे पटना साहिब का तख्त श्री हरमंदिर साहिब, पटना सिटी का गुरुबाग, पटना का बाललीला साहब, दानापुर का हांडी साहिब, गायघाट का गुरु तेगबहादुर साहिब गुरुद्वारा, राजगीर का गुरुनानक कुंड, मुंगेर के गुरु पच्चीस संगत के अलावा आरा, कटिहार, नवादा, गया, सासाराम एवं भागलपुर के अन्य गुरुद्वारों एवं धार्मिक स्थलों को एक साथ जोड़कर गुरु सर्किट के विकास का निर्णय सरकार ने लिया है। उन्होंने कहा कि गुरु के बाग के समीप बहुद्देशीय प्रकाश केंद्र की स्थापना की जाएगी, जो आने वाली पीढ़ी दशमेश पिता के त्याग एवं बलिदान से सीख लेगी और मत्था टेकेगी। श्री कुमार ने कहा कि गुरु सर्किट के विकास से संपर्कता एवं सुविधाजनक अवसर को बढ़ावा मिलेगा। पर्यटकीय सुविधाओं का विकास होगा, जिससे श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ेगी। बहुद्देशीय प्रकाश केंद्र की स्थापना गुरु के बाग के समीप की जा रही है। इस केन्द्र माध्यम से नई पीढ़ी को गुरु जी के जीवन, उनके उपदेश, कर्म एवं त्याग की जानकारी मिलेगी।

यह भी पढ़े  सभी जेल व कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग की सुविधा:उपमुख्यमंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here