बिहार में सूखे की आशंका,जून में 41% कम हुई बारिश

0
19
राज्य में सूखे  की आशंका से सरकार और किसान सहमे हुए हैं. राज्य में जून में सामान्य से 41% कम बारिश हुई है. इसके  कारण अब तक 61.73% तक ही तक ही बिचड़ा डाला जा सका है.
सबसे खराब स्थिति  भागलपुर और मुंगेर प्रमंडलों की है, जहां पांच प्रतिशत से भी कम बिचड़ा डाला गया है. राज्य में 3.30 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में धान का बिचड़ा डालने का का लक्ष्य है. 33 लाख हेक्टेयर में धान की खेती का लक्ष्य है, जबकि अब तक मात्र 2.83%  यानी 93 हजार हेक्टेयर में रोपनी हो पायी है. 38 में से 27 जिलों में तो रोपनी शुरू भी नहीं हो पायी है. मक्के की बुआई भी मामूली हुई है.
जबकि आर्द्रा नक्षत्र गुरुवार को समाप्त हो जायेगा. शुक्रवार से पुनर्वसु शुरू होगा. चालू खरीफ मौसम में राज्य में  3.30 लाख हेक्टेयर में बिचड़ा तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित है, लेकिन अब तक 2,03,697 हेक्टेयर में ही बिचड़ा डाला गया है. यह लक्ष्य का 61.73% है. अब तक बिचड़ा तैयार हो जाना चाहिए. लेकिन बारिश नहीं होने के  कारण किसान बिचड़े की बुआई भी नहीं कर पाये हैं. कुछ दिनों से  राज्य में  बारिश हो रही है. इससे बिचड़े को जीवनदान मिल रहा है.
पानी के अभाव में अब तक मात्र 2.83% रोपनी हो पायी है. दो जुलाई तक राज्य में 93,258 हेक्टेयर में रोपनी हुई है. राज्य के 27 जिलों में अभी रोपनी का कोई आंकड़ा विभाग के पास नहीं है. बारिश नहीं होने  से मक्के की बुआई भी धीमी है. 4.24 लाख हेक्टेयर में खरीफ मक्के की खेती का लक्ष्य रखा गया था. दो जुलाई तक 1.23 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है.
भागलपुर व मुंगेर प्रमंडलों में पांच प्रतिशत से भी कम बिचड़े की हो पायी है बुआई
 
पूर्वी चंपारण में 77% अधिक बारिश, गोपालगंज व सुपौल में भी हालात सामान्य
राज्य में जून में सामान्य से 41% और एक जून से दो जुलाई के बीच 43% कम बारिश हुई है. जून में 167.7 एमएम बारिश होनी चाहिए, लेकिन मात्र 98.7 मिलीमीटर बारिश हुई. पूर्वी चंपारण में सामान्य से 77% अधिक बारिश हुई.
वहां 213 मिलीमीटर की जगह 377.3 मिलीमीटर बारिश हुई. इसके बाद  सुपौल और गोपालगंज ही ऐसे जिले हैं, जहां जून में अच्छी बारिश हुई. इन दोनों जिलों में  सामान्य से मात्र एक फीसदी कम बारिश हुई.
सबसे अधिक बिचड़ा बुआई वाले पांच जिले (हेक्टेयर में)
फसल लक्ष्य आच्छादन
प चंपारण 14800 16400
कैमूर 10700 10520
रोहतास 19400 18525
पूूर्णिया 9500 9148
मधेपुरा 6800 6392
सबसे कम बिचड़ा बुआई वाले पांच जिले (हेक्टेयर में)
फसल लक्ष्य आच्छादन
जमुई 6300 20
बांका 9600 148
लखीसराय 3400 147
मुंगेर 3200 236
भागलपुर 5200 258
दो जुलाई तक खेती के हालात
फसल लक्ष्य आच्छादन
बिचड़ा 3.30 लाख हेक्टेयर 2.03 लाख हेक्टेयर
रोपनी 33 लाख हेक्टेयर 93 हजार हेक्टेयर
मक्का 4.24 लाख हेक्टेयर 1.23 लाख हेक्टेयर
यह भी पढ़े  कांची शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती का 82 वर्ष की आयु में निधन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here