बिहार बीजेपी अध्यक्ष का विवादित बयान पर विवाद बढ़ता देख बयान वापस लिया

0
119
Patna-Nov.20,2017-Bihar Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi, Union Agriculture Minister Radha Mohan Singh, Bihar BJP president Nityanand Rai and others are welcoming with big garlands during Shahadat Diwas function of freedom fighter Vanshi Sah alias Vanshi Chacha at S.K. Memorial hall in Patna.

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय का बयान “नरेंद्र मोदी के तरफ उठने वाले हाथ को काट देना चाहिए” नित्यानंद राय ने अपने बयान को वापस लेते हुए कहा “मेरे बयान का गलत मतलब न निकाले” “मैं खेद वक्त करता हूं जिन्हें भी इस बयान से दुख पहुंचा”

पटना :बिहार बीजेपी के अध्यक्ष नित्यानंद राय ने एक विवादित बयान दिया है। सोमवार को OBC समुदाय के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उजियारपुर लोकसभा सीट से सांसद राय ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कठिन परिस्थितियों में देश का नेतृत्व कर रहे हैं। यह हमारे लिए गौरव की बात है। यदि उनके ऊपर कोई उंगली या हाथ उठाएगा तो उसे या तो तोड़ दिया जाएगा या काट दिया जाएगा।’ राय के इस विवादित बयान पर राजनीतिक गलियारे में आलोचना का दौर शुरू हो गया। विवाद बढ़ता देख राय ने अपना बयान वापस ले लिया।

भाजपा अध्यक्ष के बयान के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि ”भाजपा किस बात पर गर्व कर रही है. उसके पास गर्व करने लायक कुछ भी नहीं है.”

यह भी पढ़े  जो पाकिस्तान की बात करेगा हम उससे बात नहीं करेंगे : सत्यपाल मलिक

नित्यानंद के बयान की RJD प्रवक्ता शक्ति यादव ने की निंदा इस तरह के बयान से नेताओं को बचना चाहिए नरेंद्र मोदी की चापलूसी में नित्यानंद ने दिया ये बयान ..

पीएम मोदी की अब तक की यात्रा को याद करते हुए बिहार बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘जिनकी मां खाना परोसती थी और नरेंद्र मोदी को खाना खिलाने बैठी थी, उस थाली में मां को ना बेटा और बेटे को ना मां दिखाई देती थी। आज उस परिस्थिति से ऊपर गरीब का बेटा पीएम बना है। उसका स्वाभिमान होना चाहिए। एक-एक व्यक्ति को इसकी इज्जत करनी चाहिए।’

उन्होंने कहा, ‘उनकी ओर (पीएम मोदी) उठने वाली उंगली को, उठने वाले हाथ को…हम सब मिलके या तो तोड़ देंगे, जरूरत पड़ी तो काट देंगे।’ इस कार्यक्रम के दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी भी मंच पर मौजूद थे।

उधर, विवाद बढ़ने नित्यानंद राय ने सफाई दी है कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया है। उन्होंने कहा कि हाथ काट देने की बात उन्होंने कहावत के रूप में कही थी। राय ने कहा, ‘मेरे कहने का मतलब था कि देश की आन और सुरक्षा पर सवाल उठाने वालों के साथ कड़ाई से निपटा जाएगा।’ इस बीच राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बिहार बीजेपी अध्यक्ष के बयान की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि राजनीति में गंदे लोग आ गए हैं।

यह भी पढ़े  पत्रकार हत्याकांड: सुप्रीम कोर्ट ने तेज प्रताप यादव की तस्वीरों पर सीबीआई से मांगी रिपोर्ट

बता दें कि वैशाली के प्रभावशाली नेता राय ने दिसंबर 2016 में बीजेपी अध्यक्ष का पदभार संभाला था। वह हाजीपुर से विधायक भी रहे हैं। इसी कार्यक्रम में सुशील मोदी ने आरजेडी की आलोचना की और कहा कि उसने कानू समुदाय के लोगों को एक भी टिकट नहीं दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here