बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर जगन्नाथ मिश्र का दिल्ली में निधन हो गया

0
50

बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा का निधन हो गया है. वह काफी लंबे समय से बीमार थे. जगन्नाथ मिश्रा का निधन दिल्ली में हुआ है. उनके निधन की जानकारी मिलते ही बिहार के राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर दौड़ गई है.

अपनी राजनीतिक पकड़ की वजह से वह तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री बने. उन्होंने पहली बार यह जिम्मेदारी वर्ष 1975 में संभाली थी. वह दूसरी बार वर्ष 1980 में राज्य के मुख्यमंत्री बने. आखिरी बार वह 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे. वह 90 के दशक के मध्य में केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रहे. बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा ने राजनीति से पहले अपने करियर की शुरुआत लेक्चरर के तौर पर की थी. उन्होंने बिहार यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर के तौर पर अपनी सेवाएं दी थीं.

इस दौरान उन्होंने 40 के करीब रिसर्च पेपर लिखे. जगन्नाथ मिश्रा का शुरू से ही राजनीति से लगाव रहा था. वह 90 के दशक के बीच केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रहे. बिहार में डॉ मिश्र का नाम बड़े नेताओं के साथ लिया जाता था. उन्हें मिथिलांचल के सबसे कद्दावार नेता माना जाता था.

यह भी पढ़े  मंत्रिपरिषद के फैसले:मॉब लिंचिंग के पीड़ितों को एक माह में मिलेंगे एक लाख रुपये

डॉक्टर जगन्नाथ मिश्र विश्वविद्याल में पढ़ाने के दौरान ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए थे और बाद में 1975 में पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने। दूसरी बार उन्हें 1980 में कमान सौंपी गई और आखिरी बार 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे। वे 90 के दशक के बीच केंद्रीय कैबिनेट में मंत्री भी रहे।

बिहार में डॉक्टर मिश्र का नाम बड़े नेताओं के तौर पर जाना जाता है । कांग्रेस छोड़ने के बाद, वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए और फिर जनता दल (यूनाइटेड) में भी शामिल हुए।

30 सितंबर 2013 को रांची में एक विशेष केंद्रीय जांच ब्यूरो ने चारा घोटाला मामले में 44 अन्य लोगों के साथ उन्हें भी दोषी ठहराया। उन्हें चार साल की कारावास और 200,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया था। बाद में उन्हें जमानत पर बरी कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here