बरौनी कारखाने के पुनरुद्धार से विकास को मिलेगी गति : पारस

0
373

पटना : पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने बरौनी खाद फैक्ट्री के पुनरुद्धार के लिए केन्द्र सरकार द्वारा आवंटित 6500 करोड़ रुपये के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि 17 वर्षो से बंद पड़े बरौनी उर्वरक कारखाने के पुनरुद्धार से जहां स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे वहीं बिहार के विकास को नई गति एवं ऊर्जा मिलेगी। बंद पड़े कारखाने के चालू होने से यूरिया के आयात में कमी आयेगी साथ ही बिहार के अलावा झारखंड, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल के किसानों को भी यातायात के खर्च में कमी आने से भारी राहत मिलेगी।येगी। श्री पारस ने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है और मुख्यत: बिहार जैसे प्रदेश जहां अधिकतर आबादी कृषि पर आधारित है वैसे बिहार प्रदेश के मुख्य कारखानों में एक बरौनी खाद्य फैक्ट्री के 17 वर्षो से बन्द पड़े रहने के कारण देश को काफी आर्थिक क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि पूर्व में लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने भी इस संयत्र को चालू कराने के लिए अथक प्रयास किया था आज उनके प्रयासों को देश के प्रधानमंत्री ने सराहा और उसे अमलीजामा पहनाया है।
लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष व पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने बताया कि पार्टी के जिलाध्यक्षों का राष्ट्रीय सम्मेलन पांच व छह अक्टूबर को राजगीर के कन्वेंशन हॉल में होगा। सम्मेलन में सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रकोष्ठों के राष्ट्रीय व प्रदेश अध्यक्ष और देश भर के पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के अलावा देश के सभी जिलाध्यक्षों को आमंत्रित किया गया है। इस सम्मेलन में भाग लेने वाले पदाधिकारी का मुख्य रूप से पार्टी का आजीवन सदस्य एवं न्यायचक्र का न्यूनतम तीन वर्ष का सदस्य होना अनिवार्य है। सम्मेलन का उद्घाटन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केन्द्रीय उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान करेंगे। सम्मेलन में पार्टी के केन्द्रीय संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष व जमुई सांसद चिराग पासवान, दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद रामचन्द्र पासवान एवं पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुल खालिक के अलावा पार्टी के सभी सांसद, विधायक, विधान पार्षद, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक एवं पूर्व विधान पार्षद भी शामिल होंगे। प्रदेश प्रवक्ता अशरफअंसारी ने बताया कि इस दो दिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन की तैयारी जोर-शोर से की जा रही है। इसकी स्थानीय व्यवस्था के लिए विभिन्न समितियों का गठन किया गया है। समिति के सदस्य अभी से राजगीर प्रवास पर हैं और अपने दायित्वों के निर्वहन में पूरी मुस्तैदी से लगे हुए हैं। ताकि यह सम्मेलन सफल हो एवं देश भर से आने वाले पार्टी के कार्यकर्ता एवं नेता को किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो। देश भर से आने वाले सभी कार्यकर्ताओं के रहने एवं खाने-पीने की समुचित व्यवस्था की जा रही है।

यह भी पढ़े  मोदीमय हो गया ऐतिहासिक केंद्रीय कक्ष

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here