बजट सत्र का अंतिम दिन :विपक्ष के हंगामे के कारण विधानसभा की कार्यवाही स्थगित

0
73

बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के अंतिम दिन बुधवार को मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग करते हुए विपक्ष ने सदन के अंदर और बाहर हंगामा किया.  जिसके कारण सभा की कार्यवाही करीब चार मिनट बाद ही स्थगित करनी पड़ी। विधानसभा की कार्यवाही पूवार्ह्न 11:00 बजे शुरू होते ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के भाई विरेंद्र ने बच्चों को लैंगिक अपराध से संरक्षण (पोक्सो) अधिनियम की विशेष अदालत का हवाला देकर मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफा देने की मांग की। इसके बाद राजद के अन्य सदस्य भी मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर शोरगुल करने लगे।

इस पर विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने हंगामा कर रहे सदस्यों से कहा कि वे एक ही मुद्दे को सदन में कितनी बार उठायेंगे। न्यायालय ने इस मामले में मुख्यमंत्री के खिलाफ कोई बात नहीं कही है। इसलिए, सदन को चलने दें। सभाध्यक्ष के आग्रह का राजद सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ और वे शोरगुल तथा नारेबाजी करते हुए सदन के बीच में आ गये।

यह भी पढ़े  नासा ने खोजा हमारे जैसा आठ ग्रहों का सौरमंडल

हंगामे के बीच ही संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि राजद के सदस्य हर दिन एक ही मुद्दे को उठाकर सदन को चलने नहीं दे रहे हैं यह ठीक नहीं है। इनकी प्राथमिकता सदन को चलने देना नहीं बल्कि हंगामा करना है। सदन कार्य संचालन नियमावली से चलता है। यदि नेता प्रतिपक्ष इस मामले में इतनेे ही गंभीर हैं तो वह सदन में क्यों नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजद के सदस्य अपना चेहरा चमकाने के लिए इस मुद्दे को बार-बार उठा रहे हैं। सभाध्यक्ष ने सदन को अव्यवस्थित देख कर सभा की कार्यवाही करीब चार मिनट के बाद ही दो बजे दिन तक के लिए स्थगित कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here