बच्चों के यौनशोषण मामले में नामी स्कूल भी रहे हैं दागदार

0
10
पटना : बड़े महानगरों की तरह बिहार की राजधानी पटना में भी बच्चों के साथ यौन शोषण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. लेकिन ऐसी घटनाएं जब स्कूल परिसर में होने लगें, तो अभिभावक क्या करें. स्कूल प्रशासन सीधे तौर पर सवालों के कटघरे में खड़ा हो जाता है. स्कूल में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और शिक्षक भी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. कड़ा कानून बनाया गया है, लेकिन मानसिक विकृत लोग बच्चों के साथ सुनसान जगह पर यौन शोषण कर रहे हैं. उन्हें मुंह बंद रखने के लिए धमका रहे हैं और जब पोल खुलने की नौबत आ रही है, तो जानलेवा हमला भी कर रहे हैं.
हाल के दिनों में गुरुग्राम के एक हाईप्राेफाइल स्कूल में प्रद्युम्न नाम के छात्र की हत्या कर दी गयी थी. नेशनल फ्रेम पर छाये इस वारदात को लोग भुला भी नहीं पाये थे कि पटना के होली क्रॉस इंटरनेशल स्कूल दानापुर में क्लास टू की छात्राके साथ रेप की कोशिश का मामला सामने आ गया है.
इन हरकतों को रोकने के लिए पॉक्सो बना हथियार : बच्चों से सेक्सुअल हैरेसमेंट, सेक्सुअल असॉल्ट और पोर्नोग्राफी जैसे गंभीर अपराधों पर लगाम लगाने और अपराधियों को सलाखों के पीछे धकलेने के लिए संशोधित पॉक्सो एक्ट अपना काम तो कर रहा है, पर ऐसी हरकतें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. हालांकि कानून के एक्सपर्ट कहते हैं कि जागरूकता आने से मामले लगातार दर्ज हो रहे हैं.
केस-1
5 नवंबर, 2016 को गांधी मैदान के पास मौजूद  सेंट जेवियर्स स्कूल में एक छह साल की मासूम बच्ची के साथ यौन शोषण करने का मामला आया था. यह आरोप स्कूल की दो शिक्षिकाओं नूतन और इंदु पर लगे थे. दोनों एलकेजी में पढ़ने वाली बच्ची के साथ अकेले में अप्राकृतिक यौनाचार करती थीं. इस घटना से बच्ची की हालत बिगड़ गयी थी. उसने अपने घर इसकी जानकारी दी. घरवालों ने मेडिकल कराया था. मेडिकल रिपोर्ट में बच्ची के प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ करने की पुष्टि हुई थी. जख्म भी मिले थे. इस पर महिला थाने की पुलिस ने केस दर्ज किया था और दोनों शिक्षिकाओं को जेल भेजा गया था.
केस-2
27 अगस्त, 2017 को जक्कनपुर थाना क्षेत्र के इंदिरा नगर रोड नंबर तीन स्थित सेंट्रल स्कूल (निजी स्कूल) के डायरेक्टर सह प्रिंसिपल शशिभूषण शर्मा पर स्कूल की छात्रा से यौन शोषण का मामला सामने आया था. आरोप था कि शशिभूषण ने 8वीं की छात्रा को अपने केबिन में बुलाकर उसका हाथ पकड़ा और फिर छेड़खानी करने लगा. छात्रा वहां से बाहर निकली और दूसरे का मोबाइल फोन मांग कर अपने परिजनों को फोन कर दिया. इसके बाद स्कूल में पुलिस पहुंची और शशिभूषण को गिरफ्तार किया. इस दौरान तीन छात्राओं ने फिजिकल टेस्ट के बहाने केबिन में बुला कर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था.
होली क्रॉस स्कूल में हुई घटना की एसडीओ करेंगे जांच, नियम नहीं माननेवाले प्रबंधक पर होगी कार्रवाई
पटना. खगौल के होली क्रॉस इंटरनेशनल स्कूल में बुधवार को एक छात्रा से दुष्कर्म करने का प्रयास किया गया. मामले पर परिजनों ने स्कूल के बाहर हंगामा किया. मामले को लेकर डीडीसी से बात की गयी, तो उन्होंने कहा कि घटना की जांच एसडीओ से करायी जायेगी. जो निर्देश डीएम के स्तर से 14 सितंबर को स्कूल प्रबंधक को दिये गये हैं, उसमें कोताही मिली तो कार्रवाई होगी.
डीएम का स्कूलों को  निर्देश
-सभी जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने थे. साथ ही शौचालय के पास महिलाकर्मी की ड्यूटी व सभी कर्मियों का पुलिस से सत्यापन कराने थे.
-पाॅस्को के तहत कमिटि गठित करने के साथ-साथ  गुड टच-बैड टच के संबंध में छात्राओं को अवगत कराने के लिए स्पेशल क्लास चलाएं.
-विद्यालय में मोटर साइकिल अथवा अन्य वाहनों से आनेवाले छात्र-छात्राओं को ड्राइविंग लाइसेंस देखने के बाद ही प्रवेश की इजाजत दी जाये. कम उम्र अथवा बगैर वैध ड्राइविंग लाइसेंस के बगैर दुपहिया वाहन से आनेवाले छात्र-छात्राओं पर कार्रवाई का विद्यालय को निर्देश दिया.
-एसएमएस के माध्यम से महत्वपूर्ण जानकारियां छात्र व अभिभावकों को दें. विद्यालयों की ओर से बेवसाइट को नियमित रूप से अद्यतन करना जरूरी है. आदि.
यह भी पढ़े  गुजरात में बहुत जल्द होगा हार-जीत का फैसला : लालू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here