बक्सर में नीतीश के काफिले पर पथराव ,आईजी और कमिश्नर करेंगे हमले की जांच

0
180
Buxar: Womens attcak on Bihar Chief Minister Nitish Kumar carcade during Samiksha Yatra in Buxar on Friday January 12,2018

IG नैय्यर हसनैन और DC आनंद किशोर करेंगे CM के काफिले पर हमले की जांच, नीतीश ने कहा- राज्य के विकास को देख ‘कुछ लोग’ परेशान

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर शुक्रवार को ग्रामीणों ने पथराव किया जिसमें जदयू के विधायक ददन पहलवान के अलावा कई अन्य घायल हो गये। जदयू के बक्सर से विधायक ददन सिंह यादव ने बताया कि मुख्यमंत्री अपनी विकास समीक्षा यात्रा के चौथे चरण के तहत आज बक्सर जिले के नंदन पंचायत के दौरे पर थे, तभी ग्रामीणों ने उनके काफिले को देखते ही पथराव कर दिया। ग्रामीण गांव में विकास कार्य नहीं किये जाने से नाराज थे और इसी को लेकर उनके काफिले पर पथराव किया। हालांकि ग्रामीण जब पथराव कर रहे थे तभी मुख्यमंत्री का काफिला तेजी से गुजर गया जिससे वह बाल-बाल बच गये लेकिन काफिले के पीछे कुछ वाहनों के शीशे टूट गये। विधायक ने बताया कि इस घटना में वह घायल हुए हैं और उनका इलाज चल रहा है।

यह भी पढ़े  पादरी के भेष में महिलाओं के यौन शोषण के साथ पटना के आईवीएफ सेंटर में अंडाणु निकाल करता था कमाई

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर हुए हमले के मामले की जांच के लिए राज्य सरकार ने टीम गठित कर दी है. घटना की जांच पटना जोन के आईजी नैय्यर हसनैन खां और पटना के डिविजनल कमिश्नर आनंद किशोर करेंगे. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि समाज में प्रेम व सद‍्भाव बना रहे, इसके लिए हम सभी को सतर्क रहना चाहिए. कुछ लोग ऐसे हैं, जो आपस में झगड़ा लगाने का काम करते है. लेकिन, उनलोगों का मंसूबा कामयाब नहीं हो पाता है. सात निश्चय योजनाओं के तहत बिहार विकास की राह पर चल रहा है. इस विकास को देखकर कुछ लोगों को जलन हो रही है. विकास के प्रति मेरी प्रतिबद्धता को देखकर ‘वे लोग’ परेशान हैं.

मुख्यमंत्री शुक्रवार को बक्सर जिले के डुमरांव स्थित बीएमपी मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करते रहे थे. वह विकास समीक्षा यात्रा के दौरान डुमरांव के नंदन गांव पहुंचे थे. इसके बाद उन्होंने 270 करोड़ की 168 योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया. उन्होंने शिलापट्ट देख कर कहा कि इतनी योजनाओं को एक साथ देख कर खुशी हो रही है. बक्सर के लोगों ने जो मांगें रखी थीं, उन्हें पूरा किया और चाहत है कि किसानों की उपज इतनी बढ़े कि हर हिंदुस्तानी की थाली में बिहार का एक व्यंजन शामिल रहे.

यह भी पढ़े  शिक्षक दिवस समारोह आज, 17 शिक्षकों को पुरस्कार, समान काम के लिए समान वेतन में आज आ सकता है कोर्ट का फैसला
Buxar: Womens attcak on Bihar Chief Minister Nitish Kumar carcade during Samiksha Yatra in Buxar on Friday January 12,2018

बक्सर जिले के नंदन गांव में विकास समीक्षा यात्रा के लिए पहुंचे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर जमकर पत्थरबाजी की गई है जिससे कई गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं और सीएम को बमुश्किल वहां से सुरक्षित निकाला गया है।

बताया जा रहा है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने सीएम के कारकेड पर हमला कर दिया और जमकर  पत्थरबाजी की, जिससे काफिले में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए  हैं। सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह अपनी जान बचाई और गाड़ी लेकर भाग खड़े हुए। इस घटना में कई सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं।

गांव के ही चमटोली के लोगों का कहना था कि विकास केवल मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए हुए, गांव के ही दूसरे इलकेउनके तरफ कुछ नही हुआ। विरोध दायरे में था, अचानक काफिले पर कुछ असामाजिक तत्व पत्थर चलाने लगे। आधा साइज के ईंट चलने से कई गाड़ियों के शीशे टूट गए काफिले में भगदड़ की स्थिति मच गई।

यह भी पढ़े  JDU शरद गुट ने नीतीश को अध्‍यक्ष पद से हटाया, सभी फैसलों को असंवैधानिक बताया

ग्रामीणों का  आरोप है कि सात निश्चय कार्यक्रम के तहत गांव में कोई काम नहीं हुआ, इसी को लेकर ग्रामीण विरोध जता रहे थे और सीएम को गांव लाने की मांग कर रहे थे। घटना के बाद सीएम नीतीश कुमार गांव से सुरक्षित निकालकर वहां से दो किलोमीटर दूर एक फॉर्म पर ले जाया गया है जहां वे सभा को संबोधित कर रहे हैं।

Buxar: Security personnel detain a people who display black cloths protest against Bihar Chief Minister Nitish Kumar Samiksha Yatra in Buxar on Friday January 12,2018

वहीं इससे पहले महादलित महिलाओं ने सीएम के काफिले को रोकने की भी कोशिश की थी। बता दें कि पिछली बार भी सीएम नीतीश की विकास समीक्षा यात्रा के दौरान चौसा में कुछ ऐसा ही हुआ था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here