फ्रांस: सड़कों पर लौटे ‘यलो वेस्ट’ के प्रदर्शनकारी, मंत्रालय में की तोड़फोड़

0
51

फ्रांस में बीते सप्ताह के अंत में ‘यलो वेस्ट’ के प्रदर्शनकारी बेहद मजबूत होकर सड़कों पर उतरे. कई शहरों में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़पें हुईं, साथ ही उन्होंने एक मंत्रालय में तोड फोड़ की. गृह मंत्रालय ने शनिवार को सड़कों पर उतरने वाले प्रदर्शनकारियों की संख्या 50,000 बताई. वहीं, 29 दिसंबर को प्रदर्शन कर रहे लोगों की संख्या 32,000 थी. नवंबर के मध्य से हर सप्ताह के अंत में हुए प्रदर्शनों से सरकार कमज़ोर होती दिखी है.

कुछ प्रदर्शनकारियों ने मंत्रालय के लकड़ी के विशाल दरवाजे को तोड़ दिया. सरकारी प्रवक्ता बेंजामिन ग्रीविएक्स जिन्हें मध्य पेरिस में उनके मंत्रालय से बचाया गया उन्होंने इसे ‘‘गणतंत्र पर किया गया अस्वीकार्य हमला’’ करार दिया. उन्होंने एएफपी से कहा, ‘‘कुछ यलो वेस्ट प्रदर्शनकारी और काले कपड़े पहने कुछ लोगों ने निर्माण कार्य में इस्तेमाल होने वाले एक वाहन से मंत्रालय के प्रवेश द्वार को तोड़ दिया. ये वाहन पास की ही एक सड़क पर खड़ा था.’’

यह भी पढ़े  ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी के भारत दौरे का आज आखिरी दिन PM मोदी और राष्ट्रपति कोविंद से मिले रूहानी

उन्होंने बताया कि वे कोर्टयार्ड में घुसे और उन्होंने दो कारों में तोड़ फोड़ की, कुछ खिड़कियां तोड़ी और फरार हो गए. पुलिस सुरक्षा फुटेज से उन्हें पहचानने की कोशिश कर रही है. इसबीच राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने इस घटना का साफ तौर से जिक्र तो नहीं किया लेकिन ट्वीट किया कि वो गणतंत्र, उसके संरक्षकों, उसके प्रतिनिधियों और उसके प्रतीकों के खिलाफ घोर हिंसा की निंदा करते हैं.

बताते चलें कि तेल पर टैक्स बढ़ाने की योजना के विरोध में फ्रांस के ग्रामीण इलाके से शुरू हुआ यलो वेस्ट प्रदर्शन देखते ही देखते मैक्रों की बाजार समर्थित नीतियों और सरकार की कार्यशैली के विरोध में तब्दील हो गया. 17 नवंबर को शनिवार को हुए पहले प्रदर्शन में 282,000 लोग शामिल हुए थे.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here