फर्जी शिक्षक नियुक्ति में दो बीडीओ समेत आठ के खिलाफ आरोप पत्र

0
312

पटना – बिहार राज्य सतर्कता अन्वेषण ब्यूरो ने फर्जी शिक्षक बहाली के मामले में शनिवार को विशेष अदालत में दो पूर्व प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) , तीन तत्कालीन शिक्षा पदाधिकारी और एक प्रखंड प्रमुख समेत आठ लोगों के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किया। ब्यूरो ने यह आरोप-पत्र सतर्कता के विशेष न्यायाधीश मधुकर कुमार की अदालत में भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम एवं भारतीय दंड विधान की विभिन्न धाराओं में नवादा जिले के अकबरपुर प्रखंड के तत्कालीन बीडीओ सदन लाल जमादार तथा राधा रमण मुरारी, तत्कालीन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रविन्द्र कुमार, दीपा रानी साहू तथा अनंत कुमार सिंह, तत्कालीन प्रखंड प्रमुख रेणु देवी, शिक्षक नियोजन समिति के तत्कालीन सदस्य उमेश सिंह और प्रधानाध्यापक रविन्द्र प्रसाद के खिलाफ दायर किया है। आरोप के अनुसार पटना उच्च न्यायालय के निर्देश पर की गयी जांच में यह पाया गया कि वर्ष 2008 से वर्ष 2015 के बीच आरोपितों ने आपराधिक षड़यंत्र के तहत अपने सरकारी पद का दुरुपयोग करते हुए अपने निजी लाभ के लिए धोखाधड़ी और जालसाजी कर 121 शिक्षकों की जाली चयनित सूची जारी की और प्रभार प्रतिवेदन तैयार किया। इतना ही नहीं आरोपियों ने सबूतों को भी नष्ट किया और सरकार को हानि पहुंचायी।

यह भी पढ़े  जदयू के पुराने साथी विजय प्रसाद सिंह की घर वापसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here