प्रियंका चतुर्वेदी ने छोड़ी कांग्रेस, गुंडों को पार्टी में वरीयता मिलने से थीं नाराज- सूत्र

0
88

कांग्रेस से बड़ी खबर सामने आ रही है. कांग्रेस प्रवक्‍ता प्रियंका चतुर्वेदी ने शुक्रवार को पार्टी छोड़ दी है. समाचार एजेंसी पीटीआई नेे सूत्रों के हवाले से कहा है कि कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता और पार्टी के मीडिया सेल की संयोजक प्रियंका चतुर्वेदी ने इस्तीफा दे दिया है. प्रियंका ने अपना इस्‍तीफा सोनिया गांधी को भेज दिया है. इससे पहले कांग्रेस प्रवक्‍ता प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने ट्विटर अकाउंट में से प्रवक्‍ता पद हटा दिया था. साथ ही उन्‍होंने कांग्रेस का वाट्सएप ग्रुप (AICC online media) भी छोड़ दिया था. इससे पार्टी के खिलाफ उनकी नाराजगी और कांग्रेस छोड़ने की अटकलें तेज हो गई थीं.
बता दें कि 17 अप्रैल को कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने साथ कथित तौर पर बदसलूकी करने वाले मथुरा के कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई निरस्त किए जाने का विरोध करते हुए दावा किया था कि ऐसे लोगों को प्राथमिकता दिए जाना दुख की बात है.

यह भी पढ़े  अगर गठबंधन सहयोगियों ने चाहा तो जरूर बनूंगा PM पद का उम्मीदवार: राहुल गांधी

प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ‘‘बड़े ही दुख की बात है कि पार्टी खून-पसीना देकर काम करने वालों की बजाय मारपीट करने वाले गुंडों को अधिक वरीयता देती है. पार्टी के लिए मैंने अभद्र भाषा से लेकर हाथापाई तक झेली, लेकिन फिर भी जिन लोगों ने मुझे पार्टी के अंदर धमकी दी, उनके साथ कोई भी ठोस कार्रवाई नहीं हुई. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं.’

दरअसल, पिछले दिनों प्रियंका राफेल मामले पर संवाददाता सम्मेलन करने के लिए मथुरा में थीं जहां पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने उनके साथ कथित तौर पर बदसलूकी थी. उनकी शिकायत पर इन कार्यकर्ताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. अब उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कार्यकर्ताओं द्वारा खेद प्रकट करने के बाद उनके खिलाफ अनुशास्नात्मक कार्रवाई को निरस्त किया जा रहा है. सूत्रों का कहना था कि यूपीसीसी के इस कदम से नाराज प्रियंका ने ट्वीट करने के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को अपनी नाराजगी से अवगत कराया था.

यह भी पढ़े  107 साल की अपनी फैन को 'हैंडसम' राहुल गांधी ने दी 'जादू की झप्पी'

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here