प्रमोशन नहीं मिलने से मगध महिला कॉलेज की प्राचार्या ने दिया इस्तीफा, लगाया जातिवाद का आरोप

0
25

मगध महिला की प्राचार्या प्रो. शशि शर्मा ने बुधवार को प्राचार्य पद से इस्तीफा दे दिया। प्रो. शर्मा ने पटना विविद्यालय के कुलपति पर प्रमोशन में भेदभाव अपनाने का आरोप लगाया है। मिल रही जानकारी के अनुसार प्रो. शर्मा का इस्तीफा मंजूर नहीं हुआ है। इस संबंध में पुसू की वाइस प्रेसिडेंट योशिता पटवर्धन ने एक बार फिर पटना विविद्यालय के कुलपति प्रो. रासबिहारी सिंह पर जातीय भेदभाव का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने कुलपति से इस्तीफे की मांग भी की है। वहीं, भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश सह मंत्री सुजीत पांडेय ने कहा है कि वर्तमान प्राचार्य शशि शर्मा के कुशल मार्गदर्शन में मगध महिला कॉलेज नित्य नया मुकाम हासिल कर रहा था। मगध महिला कॉलेज की गुणवत्ता में नित्य दिन सुधार हो रहा था। पटना विविद्यालय के पूर्व उपाध्यक्ष अंशुमान ने पटना विविद्यालय के कुलपति को तानाशाह करार दिया है।पदोन्नति में नहीं हुआ नियमों का उल्लंघन : कुलसचिवदूसरी ओर, डॉ. शशि शर्मा, पूर्व प्रभारी प्राचार्य, मगध महिला कॉलेज, पटना के आरोपों के संबंध में पटना विविद्यालय के कुलसचिव ने कहा है कि डॉ. शर्मा की पदावनति के संदर्भ में किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं हुआ है। मेधा प्रोन्नति परिनियम के अंतर्गत उनकी प्रोन्नति का विषय चयन समिति के पास रखा गया था जिसमें विषय के विशेषज्ञ रहते हैं। चयन समिति की अनुशंसा के आधार पर ही शिक्षकों की प्रोन्नति होती है। डॉ. शशि शर्मा का मामला भी चयन समिति में रखा गया था जिसने उनकी प्रोन्नति के प्रस्ताव की अनुशंसा नहीं की। चयन समिति की अनुशंसा को सिंडिकेट में रखा जाता है एवं सिंडिकेट ने भी 30 जून, 2018 की बैठक में चयन समिति की अनुशंसा को सर्वसम्मति से अनुमोदित किया। इस अनुमोदन के बाद विवि की जिम्मेदारी होती है कि इसे अधिसूचित करे। 09 जुलाई, 2018 को इसे अधिसूचित किया गया। इस संदर्भ में सभी निर्णय नियमानुसार हैं। कुलपति पर लगाये गये आरोप निराधार एवं मनगढं़त हैं।

यह भी पढ़े  श्रीराम के जयघोष से गूंजी राजधानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here