प्रमंडलीय आयुक्त ने दशहरा रावण वध, दीपावली व छठ पर्व को लेकर की समीक्षात्मक बैठक

0
61

प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर की अध्यक्षता में आयुक्त कार्यालय के सभाकक्ष में आगामी महीनों में आने वाले प्रमुख त्योहारों यथा दशहरा, रावण वध, दीपावली एवं छठ पर्व की तैयारियों के संबंध में समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गई। शांति, सुरक्षा एवं विधि-व्यवस्था संधारण के दृष्टिकोण से इन त्योहारों के सफल आयोजन के लिए पटना प्रमंडल अंतर्गत सभी छह जिलों के जिला पदाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक एवं अन्य संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये गये। बैठक में आयुक्त के साथ संजय सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, केन्द्रीय क्षेत्र, पटना, राकेश राठी, पुलिस उप महानिरीक्षक, शाहाबाद क्षेत्र, डेहरी-ऑन-सोन, कुमार रवि, जिला पदाधिकारी, पटना, योगेन्द्र सिंह, जिला पदाधिकारी, नालंदा, रौशन कुशवाहा, जिला पदाधिकारी, भोजपुर, पंकज दीक्षित, जिला पदाधिकारी, रोहतास, राघवेन्द्र सिंह, जिला पदाधिकारी, बक्सर, नवल किशोर चौधरी, जिला पदाधिकारी, कैमूर, वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम, सुशील कुमार, संयुक्त आयुक्त-सह-सचिव, क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकार, क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी, पटना प्रमंडल, पटना, महाप्रबंधक, पेसू एवं उप निदेशक, सूचना एवं जन-सम्पर्क तथा अन्य संबंधित विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे। आयुक्त ने बताया कि ये सभी पर्व विधि-व्यवस्था के दृष्टिकोण से अत्यंत संवेदनशील है। सभी जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक सतर्क रहते हुए पूरी सख्ती एवं कड़ाई के साथ विधि-व्यवस्था का संधारण करेंगे। अपने जिला अंतर्गत संवेदनशील जगहों को चिह्नित करेंगे। त्योहारों के दौरान किसी प्रकार की अव्यवस्था फैलाने वाले असमाजिक तत्वों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार करने की कार्रवाई भी सुनिश्चित करेंगे। सभी जिलों में पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारियों, पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति त्योहारों के पूर्व ससमय कर ली जाये। आयुक्त ने सभी जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि दशहरा के लिए पूर्व से अनुज्ञप्तिधारी पूजा आयोजन समिति के लाइसेंस का नवीनीकरण शीघ्र कर लिया जाये। लाइसेंस देने के पूर्व पूजा स्थल तथा जुलूस निकालने के लिए मागरें का सत्यापन तथा समय का निर्धारण अवश्य कर लें। साथ ही दशहरा समितियों में वर्तमान में सक्रिय कम से कम दस लोगों को शामिल करते हुए इनका नाम, पता, आईडी प्रूफ तथा मोबाइल नंबर संधारित करें। आयुक्त द्वारा पटना प्रमंडल अंतर्गत छह जिलों के शहरी क्षेत्र के सभी महत्वपूर्ण तथा बड़े पूजा पंडालों में सीसीटीवी कैमरों का अधिष्ठापन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। साथ ही एसएसपी कैमरों का अधिष्ठापन किये हुए इन पंडालों पर सूचना प्रदर्शित करने का निर्देश दिया गया। आयुक्त ने सभी पूजा पंडालों में आयोजन समितियों द्वारा अग्निशमन उपकरण की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का भी निर्देश दिया। आयुक्त ने महाप्रबंधक पेसू को यह निर्देश दिया कि वे यह सुनिश्चित करें कि सभी पूजा समितियों द्वारा पूजा पंडालों में वैध रूप से विद्युत कनेक्शन प्राप्त कर लिया गया है। साथ ही पूजा पंडाल के मार्ग पर झूलती हुई तारों को ठीक करने का भी निर्देश दिया गया। छठ पर्व के अवसर पर आयुक्त ने सभी जिला पदाधिकारी को उनके जिले के अंतर्गत अवैध रूप से चल रहे नावों के परिचालन को रोकने का निर्देश दिया। सभी जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक अपने-अपने जिले में चंदा वसूली जैसे मामलों की खुद मॉनिटरिंग करेंगे। पटाखों की बिक्री घनी आबादी वाले क्षेत्र में न होकर बाहर खुले जगह में हो। पटाखों की बिक्री लाईसेन्स प्राप्त बिक्रेता ही करें। इसके लिए सभी जिला पदाधिकारी पटाखा बिक्रेताओं को अल्पावधि के लिए लाईसेंस देने की कार्रवाई करेंगे। सभी जिला पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि वे अपने-अपने जिले के वैसे व्यक्ति जिनके द्वारा शांति भंग करने की संभावना हो उनके विरुद्ध सीआरपीसी की धारा 107 की कारवाई कर बॉड भरवाने की कारवाई त्योहारों के पूर्व ससमय कर ली जाये। अवांछित तत्वों को चिन्हित करते हुए उनके विरुद्ध धारा 113 के तहत गिरतारी वारंट भी निर्गत किये जाये। आयुक्त द्वारा निर्देश दिया गया कि सभी जिलों में रिक्ति के अनुसार होम गार्ड की बहाली की प्रक्रिया नवम्बर 2019 तक पूरी कर ली जाये। इस वर्ष छठ के दौरान गंगा नदी का वाटर लेवल अधिक होने की संभावना है। इस परिपेक्ष्य में सभी जिलों में खतरनाक घाटों को चिन्ह्ति किया जाये। पुलिस महानिरीक्षक ने निर्देश दिया कि आगामी त्योहारों के मद्देनजर संवेदनशील इलाकों या बड़े जुलूसों की वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी अवश्य करा ली जाये। साथ ही जुलूसों के साथ कुछ सादी वर्दी में पुलिस बल की भी प्रतिनियुक्ति की जाये। सभी जिलों में समान रूप से डीजे के संबंध में एक समान व्यवस्था लागू की जाये। शराबबंदी के क्रम में 05 अक्टूबर से 08 अक्टूबर के बीच विशेष अभियान भी चलाया जाये ताकि किसी भी परिस्थिति में अवैध शराब की बिक्री नहीं की जाये।

यह भी पढ़े  प्रदेश में जैविक खेती को किया जायेगा प्रोत्साहित ,102 कलस्टर बनाये जाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here