प्रधानमंत्री ने देखा बिहार म्यूजियम, मुख्यमंत्री बने उनके गाइड

0
196

प्रधानमंत्री पटना विविद्यालय शताब्दी समारोह में शिरकत करने के बाद नवनिर्मित बिहार संग्रहालय देखने पहुंचे। वहां प्रधानमंत्री मोदी ने संग्रहालय की एक छत के नीचे बिहार की समृद्ध विरासत को निहारा। इस दौरान प्रधानमंत्री ने चिल्ड्रेन गैलरी, ओरियेन्टेशन गैलरी, ओरियेन्टेशन थियेटर, हिस्ट्री गैलरी, मॉडर्न आर्ट गैलरी, रिजनल आर्ट गैलरी, डिस्कवरी रूम, टेम्पररी एक्जीबिशन गैलरी का अवलोकन किया। वहीं इतिहास दीर्घा में रखी गई विश्व प्रसिद्ध यक्षिणी को भी पीएम ने देखा। सीएम नीतीश कुमार ने विस्तार से पीएम को यक्षिणी के बारे में बताया। मुख्यमंत्री ने वहां रखी एक-एक चीज की जानकारी खुद उन्हें दी। सीएस अंजनी कुमार ने भी सीएम नीतीश के साथ पीएम नरेंद्र मोदी को म्यूजियम में लगी तस्वीरों के संबंध में बताया। 

खुद जतायी थी देखने की इच्छा, संग्रहालय में 20 मिनट तक रहे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रदेश के अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान शनिवार को अचानक नवनिर्मित बिहार संग्रहालय देखने पहुंचे। संग्रहालय को पूरी तरह से देखने के बाद पीएम ने उसकी खूब सराहना की। प्रधानमंत्री संग्रहालय में 20 मिनट तक रहे। मोदी ने हवाई अड्डा पर उनका स्वागत करने आये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष नवनिर्मित बिहार संग्रहालय देखने की इच्छा जतायी। मुख्यमंत्री ने बताया कि मोदी ने उनसे पूछा कि पटना में जो नया म्यूजियम बना है उसे क्या वह देख सकते हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने जवाब दिया, क्यों नहीं। इसकी र्चचा सीएम ने पीयू के मंच पर भी की।

आनन-फानन में खाली कराया गया संग्रहालय : प्रधानमंत्री द्वारा बिहार संग्रहालय देखने की इच्छा जाहिर करने के बाद आनन-फानन में उनके वहां जाने का कार्यक्रम तय हुआ। सुरक्षाकर्मी बिहार संग्रहालय को खाली कराने में लग गए। वहीं संग्रहालय के आस-पास देखते ही देखते सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई। संग्रहालय में पूर्व से मौजूद सैलानियों को सुरक्षा कारणों से बाहर निकाल दिया गया। वहीं, लोगों को जब इसकी जानकारी मिली तो संग्रहालय के पास भीड़ जुट गई। विजिटर बुक में दर्ज किया अनुभवप्रधानमंत्री मोदी ने इसके बाद संग्रहालय के विजिटर बुक में अपने अनुभव को साझा किया। विजिटर बुक पर उन्होंने लिखा- श्रद्धा दर्शन को प्रेरित करती है। जिज्ञासा प्रदर्शन को प्रेरित करती है, इतिहास, संस्कृति की महान विरासत को एक्सपीरियेंस करने का उत्तम स्थल है।

अभिनंदन। ये लोग भी थे मौजूद : प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री के अलावा राज्यपाल सत्यपाल मलिक, केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राज्य के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह और पुलिस महानिदेशक पीके ठाकुर भी मौजूद थे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट बिहार संग्रहालय कई मायनों में अनूठा और आकर्षक है। करीब पांच सौ सत्रह करोड़ रुपये की लागत से बने इस संग्रहालय में बिहार की समृद्ध विरासत की झलक देखने को मिलती है। इस संग्रहालय में एक ओर बिहार में मिली हजारों साल पुरानी कलाकृतियां देखने को मिलेंगी, तो दूसरी ओर भारतीय इतिहास से संबंधित कई ऐसी जानकारियां हैं जो लोगों को आकर्षित करती हैं। इस संग्रहालय में 1764 ई तक का इतिहास है। संग्रहालय में रखा सम्राट चंद्रगुप्त का सिंहासन लोगों के लिए खास आकर्षण का केंद्र है। 

यह भी पढ़े  BIHAR MLC ELECTION: भाजपा प्रत्याशियों की घोषणा आज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here