प्रदेश में ठंड से 13 की मौत ,पटना में रही सर्वाधिक ठंड

0
170
GANDHI MAIDAN ME GHANE KOHRA

राजधानी समेत पूरे राज्य में इन दिनों पड़ रही कड़ाके की ठंड ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मौसम की मार सबसे ज्याद गरीब तबके के लोगों पर पड़ी है। प्रदेश में ठंड से अब तक 13 लोगों की मौत होने की सूचना है। इनमें सीतामढ़ी में चार, हाजीपुर और बिहारशरीफ में दो-दो तथा नवादा, छपरा और पटना जिले के बिहटा में एक-एक लोग शामिल हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर के केजरीवाल अस्पताल में 180 बच्चे ठंड लगने के कारण जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे हैं। बिहटा के प्रखंड के अम्हारा गांव में मंगलवार को अहले सुबह ठंड से 40 वर्षीय एक युवक सलीम अंसारी की मौत हो गई। मृतक की मां शाहिदा खातून ने बताया कि रोज की तरह सलीम रात में खाना खा कर सो गया था। अचानक देर रात उसका शरीर कांपने लगा। उसे आनन फानन में स्थानीय चिकित्सक के यहां ले जाया गया। डॉक्टर ने ठंड लगने की बात कहकर प्राथमिक उपचार किया और उसके बाद सलीम को पटना रेफर कर दिया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 

THANDH BADHI ALAW JALATE LOG

 राज्य में कोहरा छंटने के बाद तापमान में आयी गिरावट से पटना मंगलवार को सर्वाधिक ठंडा स्थान रहा। मौसम विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पटना का अधिकतम तापमान 16.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 07.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो इस मौसम में अबतक का सबसे कम तापमान है। वहीं, गया का अधिकतम 18.8 डिग्री एवं न्यूनतम 08.8 डिग्री, भागलपुर का अधिकतम 18.5 डिग्री और न्यूनतम 07.3 डिग्री तथा पूर्णिया का अधिकतम 18.5 तथा न्यूनतम तापमान 09.9 डिग्री सेल्सियस रहा। विभाग ने कहा है कि सुबह के समय घना कोहरा रहेगा। चार और पांच जनवरी को फिर से शीतलहर चलने की संभावना है। पटना में ठिठुरन भरी ठंड के प्रकोप का आम जनजीवन पर खासा असर देखा गया। सरकारी दफ्तरों,बैंकों तथा अन्य निजी प्रतिष्ठानों में भी कर्मचारियों की उपस्थिति कम रही। सरकारी कार्यालयों में अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक हीटर और ब्लोअर के आसपास बैठे नजर आये। इसी तरह की स्थिति अन्य कार्यालयों में भी रही। राजधानी पटना के भीड़भाड़ वाले बाजारों में दिन चढ़ने के बाद थोड़ी चहल-पहल तो रही लेकिन शाम ढलते ही इक्के-दुक्के लोग ही नजर आये। सड़क किनारे दुकान लगाने वाले टायर जलाकर ठंड से बचने का प्रयास करते दिखे। ठंड के कारण दुकान लगाने वालों की संख्या भी कल की तुलना में और कम रही।

Patna-Jan.2,2018-Crowd of passengers around Patna Airport after several flights delayed or cancel due to fog weathe

कोहरा छंटने के बाद दृश्यता बेहतर होने से हवाई सेवाओं में धीरे-धीरे सुधार होने लगा है। पटना के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से अधिकांश विमानों ने मंगलवार को उड़ानें भरीं। इससे हवाईअड्डे पर यात्रियों ने राहत की सांस ली। वहीं, कोहरे का प्रभाव ट्रेनों के परिचालन पर अब भी बना हुआ है। निर्धारित समय से चलने वाली महत्वपूर्ण ट्रेनों के साथ ही कई सवारी गाड़ियां अब भी कई घंटे विलंब से चल रही हैं। ट्रेनों के निर्धारित समय से नहीं चलने के कारण स्टेशनों पर ट्रेनों के इंतजार में खड़े याियों को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। 

RAJDHANI PATNA ME CHHAYA GHANA KOHRA TRAIN LATE

कोहरे के कारण विमानों के बाद ट्रेनें भी बुरी तरह प्रभावित हो गई हैं। कई ट्रेनें तो आगमन तिथि के दूसरे दिन गंतव्य को पहुंच रही हैं। राजधानी एक्सप्रेस जैसी वीवीआइपी ट्रेन का बुरा हाल है। मंगलवार को नई दिल्ली से चली राजेंद्र नगर राजधानी एक्सप्रेस समाचार लिखे जाने तक तक 25 घंटे लेट थी। सोमवार की सुबह पांच बजे आने वाली नई दिल्ली-राजेंद्र नगर राजधानी एक्सप्रेस मंगलवार की सुबह पांच बजे पटना जंक्शन पहुंची। 24 घंटे विलंब रहने के कारण यात्रियों का बुरा हाल रहा। यही नहीं आज यानी मंगलवार की सुबह पांच बजे आने वाली राजधानी बुधवार की सुबह छह बजे के बाद पहुंचने की संभावना है।

यह भी पढ़े  वसंत उत्सव में कलाकारों ने झुमाया

राजधानी एक्सप्रेस के रिकॉर्ड विलंब चलने के कारण मंगलवार को राजेंद्र नगर से नई दिल्ली जाने वाली 12309 राजधानी एक्सप्रेस को रद कर दिया गया। बुधवार को राजधानी एक्सप्रेस दिल्ली से रद रहेगी। यानी बुधवार को राजेंद्र नगर से तथा गुरुवार को नई दिल्ली से निर्धारित समय पर खुलेगी। सोमवार को शाम 7.25 बजे दिल्ली के लिए खुलने वाली राजधानी एक्सप्रेस 18 घंटे विलंब से मंगलवार को दोपहर 1.25 बजे खुली। यात्रियों में रेल प्रशासन के प्रति काफी गुस्सा दिखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here