प्रतिभा के धनी थे डॉ.श्रीनिवास चिकित्सक ही नहीं,साहित्यिक साधु थे :राज्यपाल

0
66
Patna-Dec.30,2017-Bihar Governor Satyapal Mallik is releasing special postal coverage on birthday of Dr. Shriniwas at Raj Bhawan in Patna.

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. श्रीनिवास कुशल चिकित्सक के साथ-साथ, लेखक, साहित्यकार और दार्शनिक भी थे। संवेदनशील इंसान के रूप में वे पूरी मानवता के लिए समर्पित थे। देसी चिकित्सा पद्धति के विकास में भी डॉ. श्रीनिवास का योगदान महवपूर्ण है। उन्होंने ‘‘पॉलीपैथी’ यानी बहुमुखी और सर्वजन सुलभ चिकित्सा-पद्धति का प्रणयन किया।राज्यपाल शनिवार को डॉ. श्रीनिवास की जयंती पर डाक विभाग द्वारा स्मृति स्वरूप आयोजित ‘‘विशेष आवरण एवं विरूपण’ के विमोचन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हृदयरोग चिकित्सा के क्षेत्र में विदेशों में शिक्षा ग्रहण करने के बाद डॉ. श्रीनिवास ने पटना में इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान के संस्थापक निदेशक के रूप में अपनी महवपूर्ण सेवाएं दीं। विज्ञान और आध्यात्म को एक-दूसरे का पूरक माननेवाले डॉ. श्रीनिवास ने ‘‘स्पिरीटोमेट्री’ नामक किताब भी लिखी। वे श्रेष्ठ साहित्यकार और संवेदनशील व्यक्ति थे।कार्यक्रम के दौरान श्री मलिक ने डॉ. श्रीनिवास की स्मृति में ‘‘विशेष आवरण एवं विरूपण’ विमोचित करते हुए डाक विभाग को धन्यवाद भी दिया। कार्यक्रम में पटना उच्च न्यायालय के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश राजेन्द्र प्रसाद, आचार्य किशोर कुणाल, डॉ. एसएन आर्या, प्रो. नवल किशोर चौधरी, सीपीएमजी एमई हक, डॉ. मंजू ठाकुर, किरण सिंह, निदेशक (डाक-सेवा) मनोज आदि ने भी विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में राज्यपाल के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा सहित कई चिकित्सक, बुद्धिजीवि एवं अन्य लोग भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  राज्यपाल- मुख्यमंत्री ने दीं दीपावली की शुभकामनाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here