पुंछ में सुपुर्द-ए-खाक हुए शहीद औरंगजेब, सैन्‍य सम्‍मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

0
136

सेना के जवान औरंगजेब का आज ईद के दिन पुंछ में उनके गांव सलामी में अंतिम संस्कार कर दिया गया. बेटे की मौत से दुखी औरंगजेब के पिता मौहम्मद हनीफ ने कहा कि सरकार 32 घंटे में उनकी शहादत का बदला ले और बेशर्म पाकिस्तान को सबक सिखाए वरना वे खुद इसके लिए तैयार हैं. आज उनका पार्थिव शरीर पुंछ में उनके गांव सलामी  पहुंचा. सेना के जवान औरंगजेब को 14 जून को जम्मू कश्मीर के शोपिया में आतंकियों ने अगवा करके मार दिया था. शहीद औरंगजेब आतंकी समीर चाइगर को मारने वाले टीम में शामिल थे.

पुंछ में औरंगज़ेब के पैतृक गांव सलामी में उनकी शाहदत के बाद मातम छाया हुआ है. परिवार की मांग है कि अब समय आ गया है कि एक सिर के बदले सौ सिर लाने की बात पर अमल हो. परिवार ने कहा है कि 32 घंटों के अंदर औरंगज़ेब की शहादत का बदला चाहिए.

एक घर का नहीं ये हर घर का नुकसान- औरंगज़ेब के पिता

यह भी पढ़े  दहेज और बाल विवाह के खिलाफ कल बिहार के लोग बनायेंगे मानव श्रृंखला

जम्मू के पुंछ ज़िले के सलामी गांव को इंतज़ार था कि ईद के पवित्र मौके पर गांव का लाल औरंगज़ेब वापस आएगा, लेकिन शायद ही किसी को यह अंदाज़ा रहा होगा कि गांव का जाबांज बेटा तिरंगे में लिपट कर आएगा. औरंगजेब के पिता मोहम्मद हनीफ बताते है कि आतंकवाद ने सिर्फ उनका ही नहीं बल्कि हर घर में नुकसान किया है.

मोहम्मद हनीफ का दावा है कि भारत ये लड़ाई ख़त्म क्यों नहीं कर रहा है? जबकि वह इस लड़ाई को ख़त्म करने की ताक़त रखता है.  उनका दावा है कि आतंकवाद को नेता ख़त्म नहीं होने देते. हनीफ का कहना है कि पाकिस्तान कभी कश्मीर नहीं ले सकता.  उनका कहना है कि उन्हें दुःख है कि उनका बेटा अकेले चला गया और फ़क़्र होता अगर वो एक आतंकी को भी साथ ले जाता.

सरकार ले भाई की शहादत का बदला- औरंगज़ेब के भाई

वहीं, शहीद औरंगज़ेब के भाई मोहम्मद क़ासिम का कहना है कि उनका भाई पूरे गांव का भाई और बच्चा था. उनके मुताबिक, अब समय आ गया है कि सरकार को उनके भाई की शहादत का बदला लेना चाहिए. अब एक के बदले सौ आंतकी मार गिराने का समय आ गया है.

यह भी पढ़े  लोकसभा चुनाव को लेकर जिलाधिकारी ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ

बता दें कि मौसम ख़राब होने के चलते शुक्रवार को शहीद का पार्थिव शरीर गांव तक नहीं पहुंच पाया था. अब ईद के दिन ही उनका पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा है.

शहीद सैनिक औरंगजेब की मौत से पहले का वीडियो सामने आया-

औरंगजेब की हत्या के मामले में एक वीडियो सामने आया है. ये वीडियो औरंगजेब की हत्या से पहले का बताया जा रहा है. इस वीडियो में आतंकियों और सेना के जवान औरंगजेब के बीच बातचीत को साफ सुना जा सकता है. वीडियो में आतंकियों ने जवान औरंगजेब को एक पेड़ के नीचे बैठा रखा है और उससे सवाल पूछ रहे है.। वीडियो में किसी आतंकी का चेहरा तो नहीं दिख रहा है लेकिन जवान औरंगजेब के साथ हुई बातचीत में आतंकी की आवाज एकदम साफ सुनाई दे रही है, जिसमें पूछ रहा कि क्या मेजर शुक्ला के साथ थे? क्या समीर टाईगर की हत्या में तुम भी शामिल थे?

यह भी पढ़े  सिद्धांतविहीन हो गई आजकल की राजनीति : नीतीश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here