पीयू का स्थापना दिवस समारोह एक को ,पीएम नरेंद्र मोदी, 14 अक्टूबर को आने की संभावना

0
557

पटना विविद्यालय का एक अक्टूबर, 2017 को सौ वर्ष पूरा हो जायेगा। इस दिन अवकाश रहने के बावजूद विविद्यालय ने स्थापना दिवस मनाने का निर्णय लिया है। विविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह में प्रधानमंत्री को आना है, लेकिन प्रधानमंत्री एक अक्टूबर के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। बल्कि वे 14 अक्टूबर को शताब्दी वर्ष समारोह में शामिल होंगे। कुलपति प्रो रासबिहारी प्रसाद सिंह ने बताया कि एक अक्टूबर को स्थापना दिवस समारोह व्हीलर सीनेट हॉल में आयोजित होगा। कार्यक्रम में राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा शामिल होंगे। एक अक्टूबर को होने वाले स्थापना दिवस समारोह में 2013, 14, 15, 16 के स्नातक टॉपर छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया जायेगा। कुलपति ने बताया कि एक अक्टूबर को होने वाले कार्यक्रम में प्रधानमंत्री शामिल नहीं होंगे। उनका कार्यक्रम अलग से तय है। चूंकि विविद्यालय का स्थापना दिवस एक अक्टूबर को है, इसलिए इस दिन सौ वर्ष पूरा होने पर समारोह आयोजित किया जा रहा है। प्रो. सिंह से प्रधानमंत्री के 14 अक्टूबर को आने के संबंध में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस बाबत उनके पास अभी तक कुछ भी जानकारी नहीं है। उन्हें राज्य और केंद्र से कोई सूचना नहीं मिली है। वैसे भी प्रधानमंत्री के आगमन की सारी व्यवस्था सरकार को करनी है। वे जब भी आएं हम उनके स्वागत को तैयार हैं। इधर, सरकार के सूत्रों ने बताया कि 14 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पीयू के कार्यक्रम में भाग लेने आ रहे हैं। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है। कुलपति ने कहा कि दो अक्टूबर को विविद्यालय में अवकाश है। इसके बावजूद इस दिन महात्मा गांधी का जयंती समारोह विविद्यालय में आयोजित होगा। यह समारोह भी शताब्दी वर्ष के मौके पर आयोजित किया जा रहा है। कुलपति ने कहा कि विविद्यालय का सौ वर्ष पूरा होने पर शताब्दी समारोह 2016 में ही मनाया जाना था जिसमें प्रधानमंत्री के शामिल होने की र्चचा थी, लेकिन विविद्यालय के तत्कालीन कुलपति प्रो वाईसी सिम्हाद्री इसकी तैयारी नहीं कर पाये। पीयू छात्र संघ ने मनायी दिनकर जंयतीपटना विविद्यालय छात्र संघ ने राष्ट्रकवि दिनकर की जयंती पर समारोह दरभंगा हाउस वीमेन्स स्टडी विभाग में आयोजित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता छात्र संघ उपाध्यक्ष अंशुमान ने की। उन्होंने कहा कि आज के युग में राष्ट्रकवि दिनकर की कवितायें छात्रों में काफी लोकप्रिय हैं। उनकी कविताएं जोश भर देती हैं। समारोह में अतिथियों ने दिनकर के चित्र पर फूल-मालाएं चढ़ाकर उन्हें श्रद्धांजिल अर्पित की। इस अवसर पर छात्र राहुल कुमार, रोहित राज, विशाल कुमार, अनदिप कुमार, अभिनव हिमांशु उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  कालिदास रंगालय में हुआ सआदत हसन मंटो की कहानी पर आधारित नाटक ‘‘अकेली’ का मंचन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here