पीओएस मशीन से खाद की बिक्री शुरू

0
114
Patna-Jan.1,2018-Bihar Agriculture Minister Prem Kumar is inaugurating direct benefit transfer from POS machine in Patna.

कृषि विभाग के मंत्री डॉ. प्रेम कुमार द्वारा राज्य में पीओएस मशीन के माध्यम से खादों के बिक्री का शुभारम्भ किया गया। वर्तमान में राज्य में 22,362 अधिकृत खुदरा उर्वरक विक्रेता हैं, जिनमें 18,500 खुदरा उर्वरक विक्रेताओं द्वारा पीओएस मशीन की प्राप्ति कर ली गयी है तथा उन्हें मशीन के संचालन के लिए प्रशिक्षित भी किया जा चुका है। इस मौके पर डॉ. कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि आज से पूरे राज्य में सभी खुदरा उर्वरक विक्रेताओं द्वारा उर्वरकों की बिक्री पीओएस मशीन के माध्यम से की जायेगी। आज ही सभी जिलों में जिला पदाधिकारी द्वारा इसकी शुरुआत की जा रही है। किसानों को उर्वरकों की खरीद करने के लिए अपना आधार कार्ड अथवा अन्य मानक पहचान पत्र लेकर उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर जाना अनिवार्य होगा। मंत्री ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार कई योजनाओं में डिजिटल माध्यमों को प्रोत्साहित कर रही है तथा आधार आधारित योजनाओं के सत्यापन का प्रचलन हाल के वर्षो में बढ़ा है। इस पण्राली में थोक उर्वरक विक्रेता सिर्फ अधिकृत खुदरा अनुज्ञप्तिधारी के साथ ही व्यवसाय करेंगे तथा खुदरा व्यवसाय हेतु पीओएस मशीन अनिवार्य की गयी है। इस पण्राली से जिलों में सामान्य रूप से उर्वरकों की उपलब्धता एवं ऑन-लाइन मॉनिटरिंग की जायेगी। इससे उर्वरकों की बिक्री में पारदर्शिता आयेगी तथा उचित मूल्य पर उर्वरकों की उपलब्धता होगी, साथ ही किसानों को डिजिटल रसीद उपलब्ध करायी जायेगी।डॉ. कुमार ने कहा कि इससे लाभुकों का आधार सत्यापन होगा। भविष्य में इस पण्राली से मृदा स्वास्य कार्ड एवं आधार से जुड़े भू-अभिलेखों का इंटीग्रेशन किया जायेगा, ताकि इस पण्राली का व्यापक लाभ उठाया जा सके। वर्तमान में बिहार राज्य में 22,362 अधिकृत खुदरा उर्वरक विक्रेता हैं, जिनमें 18,500 खुदरा उर्वरक विक्रेताओं द्वारा पीओएस मशीन की प्राप्ति कर ली गयी है तथा उन्हें मशीन के संचालन हेतु प्रशिक्षित भी किया जा चुका है। 18,500 मशीनों में रिइनिशियलाइजेशन का कार्य कर लिया गया है तथा यह कार्य लगातार जारी है। आज की तिथि में जो खुदरा विक्रेता पीओएस मशीन का उठाव नहीं किये हैं, वे उर्वरक व्यवसाय नहीं कर पायेंगे तथा उनकी अनुज्ञप्ति रद्द हो जायेगी। राज्य में खुदरा उर्वरक व्यवसाय के लिए पीओएस मशीन के माध्यम से उर्वरक की बिक्री अनिवार्य होगी। कृषि मंत्री ने कहा कि राज्य में यूरिया एवं अन्य उर्वरक पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं, किसान भाई-बहन किसी भी प्रकार के अफवाह पर ध्यान नहीं दें। प्रधान सचिव, कृषि विभाग सुधीर कुमार ने बताया कि इस पण्राली के लागू हो जाने से उर्वरकों की कालाबाजारी पर रोक लगेगी एवं इसका उपयोग कृषि के अलावा अन्य क्षेत्रों में नहीं किया जा सकेगा। दानापुर की विधायक श्रीमती आशा देवी ने मंत्री से अनुरोध किया कि गांव में भी खुदरा उर्वरकों की दुकानें खोली जायें। उन्होंने कृषि मंत्री का आभार व्यक्त किया कि उर्वरकों की पीओएस मशीन के माध्यम से बिक्री के शुभारम्भ के लिए इस क्षेत्र को चुना। अशोक प्रसाद, संयुक्त निदेशक (रसायन), कम्पोस्ट एवं बायोगैस द्वारा किसानों को इस पण्राली के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी।

यह भी पढ़े  आईएएस व आईपीएस अफसरों की जांच में पास हुए 18 थाने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here