पीएम यह ख्याल छोड़ें कि वह देश से बड़े हैं :राहुल

0
18

कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार गिरने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला. राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री को ख्याल अपने मन से निकाल देना चाहिए कि वह इस देश से बड़े है, इस देश की संवैधानिक संस्थाओं से बड़े है. राहुल ने दावा किया कि प्रधानमंत्री को पूरे जीवन भर आरएसएस ने यही सिखाया है कि केवल संघ की इज्जत करें और किसी की नहीं करें. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी, ‘हत्या के आरोपी’ अमित शाह और आरएसएस को किसी संस्था की परवाह नहीं है.

बीजेपी ने 100 प्रतिशत लोकतंत्र के सभी स्तंभों को निशाना बनाया है चाहे वह मीडिया ही क्यों ना हो. प्रधानमंत्री की व्यवहार किसी पीएम की तरह नहीं एक तानाशाह की तरह है. राहुल ने कहा कि देश में कोई भी संस्थान ऐसा नहीं बचा है जिसपर संघ ने निशाना ना बनाया हो, यहां तक की गवर्नर को भी उन्होंने अपने कब्जे में लेने की कोशिश की.

यह भी पढ़े  कांग्रेस महाधिवेशन में आज सुस्त वर्कर्स में जोश भरेंगे राहुल गांधी, तय होगी 2019 की रणनीति

येदियुरप्पा ने दिया इस्तीफा 
इससे पहले मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने विश्वास मत का सामना किये बगैर ही शनिवार को इस्तीफा देने की घोषणा कर दी और इस तरह कर्नाटक में तीन दिन पुरानी येदियुरप्पा सरकार गिर गई. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को आदेश दिया था कि येदियुरप्पा सरकार शनिवार शाम चार बजे राज्य विधानसभा में विश्वास मत हासिल करें. हालांकि राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को अपना बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया था.

येदियुरप्पा ने दिया भावुक भाषण
येदियुरप्पा ने अपने भाषण में कहा, ‘मैं मुख्यमंत्री के रूप में इस्तीफा देने जा रहा हूं. मैं राजभवन जाऊंगा और अपना इस्तीफा सौंप दूंगा. ’ अपने भावनात्मक भाषण के बाद उन्होंने विधानसभा में कहा, ‘मैं विश्वास मत का सामना नहीं करूंगा. मैं इस्तीफा देने जा रहा हूं. ’’ येदियुरप्पा ने कहा कि वह अब ‘लोगों के पास जाएंगे.’

कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन का हुआ रास्ता साफ
येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद अब राज्य में जेडीएस की राज्य इकाई के प्रमुख एच डी कुमारस्वामी के नेतृत्व में सरकार गठन का मार्ग प्रशस्त हो गया है. जेडीएस को कांग्रेस का समर्थन हासिल है. कांग्रेस – जद ( एस ) गठबंधन ने 224 सदस्यीय विधानसभा में 117 विधायकों के समर्थन का दावा किया है. दो सीटों पर विभिन्न कारणों से मतदान नहीं हुआ था जबकि कुमारस्वामी दो सीटों से चुनाव जीत थे.

यह भी पढ़े  राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here