पिछला चुनाव एक-दूसरे के खिलाफ लड़ने वाले इस बार हैं साथ, राह कहीं आसान, तो कहीं कठिन

0
42
17वीं लोकसभा चुनाव में पार्टियों के नये समीकरण से सातवें चरण में प्रत्याशियों को फतह हासिल करने की राह कहीं कठिन, तो कहीं आसान होती दिख रही है.
नये समीकरण से पिछले लोकसभा चुनाव में एक-दूसरे के खिलाफ लड़ने वाले इस चुनाव में साथ हैं. सातवें और अंतिम चरण में काराकाट, जहानाबाद व नालंदा में जदयू का सीधा मुकाबला महागठबंधन से है. वहीं पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर व सासाराम में भाजपा को चुनौती है. नालंदा में पिछले लोकसभा चुनाव में जदयू के कौशलेंद्र कुमार का मुकाबला लोजपा के सत्यानंद शर्मा से था. चुनाव में मात्र 9627 वोट के  अंतर से कौशलेंद्र कुमार जीते थे. इस बार एनडीए में भाजपा के साथ लोजपा व जदयू है.
चुनाव में नये प्रत्याशी हम के अशोक कुमार आजाद से मुकाबला है. पिछले लोकसभा चुनाव में काराकाट में रालोसपा प्रत्याशी उपेंद्र कुशवाहा का मुकाबला राजद की कांति सिंह से था. चुनाव में उपेंद्र कुशवाहा को 338892 व कांति सिंह को 233651 वोट मिले थे.
इस बार महागठबंधन में राजद के साथ रालोसपा है. वहां इस बार जदयू से सीधा मुकाबला है. पिछले चुनाव में जदयू के महाबलि सिंह को 76709  वोट मिले थे. पाटलिपुत्र में भाजपा के रामकृपाल यादव, राजद की मीसा भारती से मात्र 40322 वोट के अंतर से जीते थे. चुनाव में जदयू के रंजन प्रसाद यादव को 97228 वोट मिले थे. इस बार भाजपा को जदयू का साथ है, तो दूसरी तरफ राजद को महागठबंधन के अन्य दलों के अलावा वाम दलों का साथ है.
जहानाबाद में जदयू व राजद में मुकाबला
जहानाबाद में जदयू व राजद का सीधा मुकाबला माना जा रहा है, जबकि पिछले लोकसभा चुनाव में रालोसपा के डॉ अरुण कुमार चुनाव जीत गये थे.
इस बार वे राष्ट्रीय समता पार्टी से चुनाव लड़ रहे हैं. इस बार जहानाबाद से जदयू प्रत्याशी चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी हैं. उनका मुकाबला राजद के सुरेंद्र यादव से है. आरा में चुनाव जीते भाजपा के राजकुमार सिंह का मुकाबला भाकपा-माले प्रत्याशी राजू यादव से है.
सारासाम व बक्सर में पिछले चुनाव की तरह इस बार भी प्रत्याशियों के बीच कड़ा मुकाबला है. पिछले चुनाव में सासाराम से जदयू के केपी रमैया थे व बक्सर में जदयू के श्याम लाल सिंह कुशवाहा मैदान में थे. पटना साहिब में चुनाव जीते शत्रुघ्न सिन्हा इस बार कांग्रेस से चुनाव मैदान में हैं. उनका मुकाबला भाजपा के रविशंकर प्रसाद से है.
यह भी पढ़े  मध्य बिहार में होगा बिहार ग्रामीण बैंक का विलय :उपमुख्यमंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here