पाकिस्तान समर्थिक आतंकी संगठन कश्मीर में कर सकते हैं हमला, सभी सेनाओं को रखा गया हाई अलर्ट पर

0
38
file photo

पाकिस्तानी राष्ट्रपति का कहना है कि अगर कश्मीर के मसले पर दुनिया उनका साथ नहीं देगी तो वो भारत से जिहाद कर के बदला लेंगे. हाफिज़ सईद, मसूद अज़हर, सैयद सलाउद्दीन, दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में बैठे ये जिहाद के वो ठेकेदार हैं जो पाकिस्तानी सेना और हुक्मरानों के इशारे पर हिंदुस्तान और खास कर घाटी में दहशत फैलाते हैं. पाकिस्तान इन लोगों के जरिए ही हमेशा भारत में उथल-पुथल मचाता रहा है. अब खबर आ रही है कि 370 के बाद पाकिस्तान में टेरर का नेटवर्क फिर से एक्टिवेट किया जा रहा है ताकि इनके जरिए सरहद और घटी के अंदर आतंक फैलाया जा सके.

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म करने के बाद से शांति व्यवस्था कायम करने के लिए धारा 144 लागू है. मोबाइल सेवा बंद है. इस बीच खबर आ रही है कि भारतीय सेना, वायुसेना और सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी समूह कश्मीर में नापाक हरकत को अंजाम देने की फिराक में है. इसलिए भारतीय सेना, वायु सेना और सुरक्षाबलों को कश्मीर घाटी में गड़बड़ी पैदा करने वालों से निपटने के लिए हाई अलर्ट पर रखा गया है. उन्हें उच्च सतर्कता बरतने को कहा गया है.

यह भी पढ़े  कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होंगे मिजोरम विधानसभा के स्पीकर!

हाफिज़ सईद, मसूद अज़हर, सैय्यद सलाउद्दीन और दाऊद इब्राहिम. पाकिस्तान के पास ये वो चार मिसाइलें हैं जो गुर्बत में काम आती हैं. जब -जब पाकिस्तान को लगता है कि भारत से आमने सामने की टक्कर मुश्किल है, तब-तब वो इन मिसाइलों को अपने ज़खीरे से बाहर निकालता है. फिलहाल, ये मिसाइलें अंडरग्राउंड थी क्योंकि अमेरिका के सामने पाकिस्तान को ये दिखाना था कि वो आतंक के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है. मगर जब घाटी में धारा 370 हटाये जाने का कोई जवाब पाकिस्तान को सूझ नहीं रहा है. तो सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान ने इन मिसाइलों को एक्टीवेट करना शुरू कर दिया है. मगर तब तक ये जान लेते हैं कि पाकिस्तान के बाकी बचे आतंक के तीन और आका कहां हैं.

मगर अब पाकिस्तान की ये चाल चलने वाली नहीं है. क्योंकि अब भारत आर-पार के मूड है. और हमें ना सिर्फ पाकिस्तान में पनाह में लिए बैठे आतंकियों के ठिकाने और कारनामें पता है बल्कि हमारी सेनाओं में इतनी महारत भी है कि हम ठीक उस तरह इन्हें मार सकें जैसे एबटाबाद में घुसकर अमेरिका ने ओसामा बिन लादेन को मारा था. क्योंकि हिंदुस्तान को ज़ख्म देने वाले यही वो लोग हैं, जिन्होंने अलग अलग रुप में आतंक के हज़ारों चेहरे हिंदुस्तान भेजे हैं. और हम ये साबित भी कर चुके हैं कि इन तक पहुंचना हमारे लिए कतई मुश्किल नहीं है.

यह भी पढ़े  सर्वाधिक रोजगार पैदा करने वाला राज्य बना बिहार

वहीं, पाकिस्तान की हरकत को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पोखरण में कहा कि हमारी नीति रही है कि हम परमाणु हथियार का पहले प्रयोग नहीं करेंगे, लेकिन आगे क्या होगा यह समय, काल और परिस्थितियों पर निर्भर करेगा.

इधर, शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर मुख्य सचिव बीएस सुब्रमण्यम ने ऐलान किया कि जल्द ही घाटी में हालात सामान्य होंगे और पाबंदियों में छूट दी जाएगी. उन्होंने कहा कि घाटी में शांति और आतंकवादियों से निपटने के लिए विशेष सतर्कता बरती गई है. लेकिन जैसे ही हालात समान्य होंगे पाबंदियों में छूट दी जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here