पाकिस्तान को खंड खंड होने से कोई नहीं रोक सकता :राजनाथ सिंह

0
26
PATNA SW K M HALL MEIN RASHTRIYA EKTA ABHIYAN JAN JAGRAN SABHA KO SAMBODHIT KERTE DEFANCE MINISTER RAJ NATH SINGH

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को ”1965 और 1971 की गलतियों” को न दोहराने की चेतावनी देते हुए रविवार को कहा कि जिस तरह से वहां मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है और आतंकवाद पनप रहा है, उससे इस मुल्क को खंड खंड होने से कोई नहीं रोक सकता. भाजपा द्वारा यहां आयोजित “जन जागरण सभा” को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने अनुच्छेद 370 और 35 ए को “नासूर” की संज्ञा देते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद इसी के कारण पनपा और इस राज्य को “लहू-लुहान” किया.

कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि देखते हैं पाकिस्तान कितने आतंकी पैदा करता है. जो भी आतंकी भारत आएगा वो वापस लौटकर पाकिस्तान नहीं जा पाएगा. राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि 1965 और 1971 को दोहराने पर पाकिस्तान POK से तो हाथ धोएगा ही फिर उसके बाद उसका और बुरा हाल होगा. अगर पाकिस्तान ने ऐसा किया तो उसको बर्बाद होने से कोई नहीं रोक सकता.

यह भी पढ़े  आतंकवादियों के सामने सत्याग्रह नहीं करेगी सरकारः अरुण जेटली

आतंकियों को फ्रीडम फाइटर बताता है पाक
राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान से साफ कहा है कि पहले आतंकवाद समाप्त करो फिर बात करो, लेकिन अब बातचीत भी सिर्फ POK पर ही होगी. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को फ्रीडम फाइटर बताता है. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने सदन के अंदर कैसे-कैसे सवाल किए थे. 5 साल बाद जम्मू-कश्मीर स्वर्ग के रूप में दुनिया में जाना जाएगा. उन्होंने कहा कि
370 रहते वहां दिव्यांगों के लिए भी कानून नहीं लागू होता था.

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में लिप्त रहने वालों को ‘स्वतंत्रता सेनानी’ कहे जाने पर राजनाथ ने कहा कि जो आतंकवादी हैं वह विशुद्ध रूप से आतंकवादी हैं उन्हें स्वतंत्रता सेनानी नहीं कहा जा सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘देखते हैं कि वे यहां (भारत में) कितने आतंकवादी भेज सकते हैं. उनमें से कोई भी वापस नहीं लौट पाएगा.” राजनाथ ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि ” 1965 और 1971 को दोहराने की गलती नहीं होनी चाहिए नहीं तो खमियाजा भुगतना पड़ेगा और अगर इसे दोहराया गया तो पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का क्या होगा यह विचार पड़ोसी देश को कर लेना चाहिए.

यह भी पढ़े  इंटर के वैसे परीक्षार्थी जो फॉर्म भरने से वंचित रह गये लाभान्वित होंगे

राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘अगर यही सिलसिला चलता रहा, जैसा कि बलोच और पख्तून समुदाय के लोगों के मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है और वहां आतंकवाद पनप रहा है, तो इससे पाकिस्तान को खंड-खंड होने से कोई नहीं रोक सकता.” सिंह ने केहा, ‘‘वह अपने आप खंड-खंड हो जायेगा. उसे किसी और को तोड़ने की जरूरत नहीं है.” उन्होंने पड़ोसी देश को जम्मू-कश्मीर के घटनाक्रम के मद्देनजर सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा देने के खिलाफ आगाह किया और कहा कि पाकिस्तान के साथ बातचीत तभी शुरू होगी जब वह आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद कर देगा.

उन्होंने कहा कि उसे यह भी ध्यान में रखना चाहिए कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और केवल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के बारे में बातचीत हो सकती है. सभा को केंद्रीय मंत्रियों रविशंकर प्रसाद और नित्यानंद राय तथा बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित भाजपा के कई अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here