पाकिस्तानी विदेश मंत्री का विवादित बयान- ‘मुस्लिम हैं सलमान, इसलिए हुई जेल’

0
13

सलमान खान को काला हिरण मामले में सजा की खबर सिर्फ भारत ही नहीं पाकिस्तान में भी सुर्खियों में बनी हुई है. पाकिस्तान के न्यूज चैनल भी इस खबर को उतनी ही प्राथमिकता दे रहे हैं जितना भारतीय न्यूज चैनल. लेकिन एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल में पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने इस मामले को अलग ही रंग दे दिया. ख़्वाज़ा आसिफ़ ने आरोप लगाया कि सलमान ख़ान को अल्पसंख्यक होने की वजह से पाँच साल की सज़ा दी गई. इतना ही नहीं ख़्वाज़ा आसिफ़ ने सलमान की सज़ा के लिए इशारों में केंद्र सरकार को भी ज़िम्मेदार ठहराया.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सलमान के साथ भारत में ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वो अल्पसंख्यक हैं. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ के बयान के बाद पाकिस्तानी मीडिया के साथ- साथ भारत और पाकिस्तान के सोशल मीडिया में भी बहस की वजह बना हुआ है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री कैपिटल टॉक शो के दौरान एंकर हामिद मीर ने सलमान खान की सजा पर उनसे प्रतिक्रिया मांगी तो उन्होंने कहा, “वो भारत के माइनॉरिटी कम्युनिटी से आते हैं भारत में माइनॉरिटी के साथ भेदभाव होता है. इसलिए उन्हें ऐसे केस में सजा दी गई जो 20 साल पुराना है. भारत में माइनॉरिटी के साथ ऐसा ही होता है. अगर वो उस समुदाय से आते, जिसकी भारत में सरकार है तो भारतीय अदालत का रवैया उनके साथ नरम होता.”

यह भी पढ़े  शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन आज से, भारत का प्रतिनिधित्व करेगी सुषमा स्वराज

ख्वाजा आसिफ के इस बयान के बाद पाकिस्तान और भारत दोनों ही मुल्कों के सोशल मीडिया प्रतिक्रियाओं की बाढ़ आ गई. एक तरफ कुछ लोग ख्वाजा आसिफ के बयान के साथ सहमत दिखे, वहीं कुछ लोगों ने उनकी खिंचाई भी की.

बता दें, बीस साल पहले 1998 में राजस्थान में सूरज बड़जात्या की फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान जोधपुर में अभिनेता सलमान खान और उनके साथियों पर हिरण शिकार का आरोप लगा था. इस मामले में सलमान को छोड़ अन्य सितारों को बरी कर दिया गया. वहीं सलमान को पांच साल के कारवास की सजा और 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here