पांच शहरों में वायु गुणवत्ता जांच केंद्र होंगे स्थापित

0
20

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि विश्व स्वास्य संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के सबसे प्रदूषित 20 शहरों में बिहार के भी तीन शहर पटना, गया और मुजफ्फरपुर शामिल हैं। सरकार ने इसे चुनौती के रूप में स्वीकार किया है। वायु प्रदूषण की बढ़ती समस्या को देखते हुये पटना समेत पांच शहरों में वायु गुणवत्ता जांच केंद्र स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। श्री मोदी ने यहां बताया कि राज्य प्रदूषण नियंतण्रपर्षद को इस साल नवम्बर तक 16.96 करोड़ रुपये की लागत से पटना में अतरिक्त चार, मुजफ्फरपुर और गया में एक-एक तथा भागलपुर एवं दरभंगा में एक-एक वायु गुणवत्ता जांच के नए केन्द्र स्थापित करने के निर्देश दिये गये हैं। वर्तमान में पटना के तारामंडल के पास तथा गया एवं मुजफ्फरपुर में एक-एक वायु गुणवत्ता जांच केन्द्र कार्यरत हैं। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्ययोजना के तहत देश के 103 शहरों में बिहार के भी तीन शहर पटना, गया और मुजफ्फरपुर को शामिल कर केन्द्र सरकार बिहार को 10 करोड़ रुपये की राशि उपलब्ध करा रही है। यह राशि वायु गुणवत्ता अनुश्रवण पण्राली की तीन इकाई, तीन मैकेनिकल डस्ट स्वी¨पग मशीन, पानी के छिड़काव के लिए वाहन एवं उपकरण, हरित कार्यक्रम, कम्पो¨स्टग इकाई, चार चलित प्रवर्तन इकाई एवं जन जागरूकता संबंधी कायरे पर खर्च की जाएगी।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार में राजद नेतृत्व वाले महागठबंधन की करारी हार के बाद जो लोग जनता से मुंह चुरा रहे हैं या जनता के फैसले को साजिश बता रहे हैं, उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीखना चाहिए। दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद वे केरल गए, जहां संसदीय चुनाव में अजेय बहुमत पाने वाली भाजपा एक भी सीट नहीं जीत पायी। उन्होंने विरोध में मत देने वालों को भी अपना बताया, जबकि बिहार में चुनाव हारने वाले लोग ईवीएम के खिलाफ आंदोलन करने की धमकी दे रहे हैं। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि लगातार दो संसदीय चुनाव में हार के बावजूद कांग्रेस वंशवादी ब्रांड गांधी से अलग कुछ सोचने को तैयार नहीं हैं। वीरप्पा मोइली जैसे नेता राहुल गांधी में अब भी लीडरशिप क्वालिटी खोज लेते हैं और मानते हैं कि अगर उन्हें एक हाथ से पद छोड़ना पड़े, तो वे अपने दूसरे हाथ को सौंप दें। चाटुकारों- घोटालेबाजों और भारत विरोधी ताकतों के बोझ तले दबी कांग्रेस ने अपने विनाश का रास्ता खुद चुना है।

यह भी पढ़े  मुख्यमंत्री सहित तमाम लोगो ने सांसद भोला सिंह के निधन पर गहरी शोक व्यक्त की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here