पहले काम नहीं होता था तो लोगों की मानसिकता भी वही होती थी.:सीएम

0
33

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के चार जिलों की यात्रा पर निकले हैं. इसी क्रम में वे शुक्रवार को पश्चिमी चंपारण पहुंचे. यहां बेतिया के मैनाटांड़ में सीएम ने 300 करोड़ की कई योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. इस दौरान मैनाटांड में उन्होंने एक जनसभाको संबोधित किया और अगली बार फिर मौका देने का आग्रह किया. अपने भाषण में उन्होंने बिगड़ते जलवायु और पर्यावरण को लेकर चिंता जाहिर की वहीं, इशारों-इशारों में बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल के उस खत का जवाब भी देने की कोशिश की जिसमें उन्होंने सड़क निर्माण में राशि गबन का आरोप लगाया है.

BJP अध्यक्ष को CM नीतीश का जवाब!
सीएम नीतीश ने भ्रष्टाचार को लेकर बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल के उठाए सवाल का इशारों में जवाब देते हुए कहा कि पहले काम नहीं होता था तो लोगों की मानसिकता भी वही होती थी. लेकिन, अब जब काम तेज़ी से हो रहे हैं तो लोगों की उम्मीदें भी बढ़ जाती है. बता दें कि बिहार बीजेपी के अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने ग्रामीण कार्य की एक योजना में 95 लाख रुपये के गबन का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़े  विकास के लिए पैसे की कमी नहीं : उपमुख्यमंत्री

पराली न जलाने की अपील

जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने एक बार फिर जलवायु परिवर्तन पर चिंता जाहिर की और लोगों से परली नहीं जलाने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि ऐसा न करें नहीं तो पर्यावरण का काफ़ी नुकसान करेंगे.

मीडिया पर CM का तंज
इस दौरान उन्होंने मीडिया पर अपना क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा कि मौसम में बदलाव की समस्या देश भर में हो रही है. अमृतसर में भी ये समस्या दिखी जब बरसात से सड़क पर पानी भर गया था. लेकिन मीडिया ने ये नहीं दिखाया. जबकि बिहार में कुछ होता है मीडिया ख़ूब दिखाता है.

वादा निभाने का दावा
सीएम नीतीश ने अपने दौरे के बारे में कहा कि लोक सभा चुनाव के प्रचार के दौरान मैंने सभा में कहा था की सिकटा आऊंगा. उस दौरान लोगों ने विकास की कुछ मांग की थी उसी मांग को पूरा करने आज सिकटा आया हूं. सीकटा के लिए कई विकास योजनाओं की शुरुआत की जा रही है कुछ के लिए भू अर्जन की समस्या भी हुई, लेकिन वो दूर कर लिया जाएगा.

यह भी पढ़े  PM मोदी के फैन बने बियर ग्रिल्‍स ,पीएम मोदी 12 अगस्‍त को डिस्‍कवरी चैनल के शो Man Vs Wild में बियर ग्रिल्‍स के साथ एडवेंचर करते नजर आने वाले हैं

अगली बार मांगा मौका
सीएम ने कहा कि मैं बहुत जल्द जल जीवन हरियाली कार्यक्रम को देखने निकलूंगा. इसकी शुरुआत भी चम्पारण से ही करुंगा. विकास के कार्य शुरू होंगे और विकास की गति भी तेज़ होगी. जिन अधिकारियों की वजह से कार्य में देरी होगी. गुणवत्ता ख़राब होगी उन ओर कार्रवाई भी होगी. उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि अगली बार फिर से मौक़ा दीजिए तो विकास के और बड़े काम होंगे.

घर-घर बिजली पहुंचाने का दावा
इसी सभा को संबोधित करते हुए सीएम ने जानकारी दी कि आज बिहार में 5500 हज़ार मेगावाट बिजली की खपत हो रही है. 2005 के आसपास मात्र 700 मेगावाट बिजली की खपत होती थी. घर-घर बिजली के बाद हर खेत बिजली की व्यवस्था भी की जा रही है.

युवकों पर नाराज हुए नीतीश
सीएम नीतीश जब बिजली की बात कह रहे थे तो कुछ युवकों ने इनकार में हाथ दिखाया तो वे गुस्सा हो गए. उन्होंने DM को आदेश दिया कि जो लोग हाथ हिला रहे हैं अगर उनके घर बिजली नही आई तो जानकारी लीजिए. अगर बिजली आ गई है बावजूद इसके हाथ हिला रहे हैं तो उन पर मामला दर्ज कीजिए.

यह भी पढ़े  ठेके वाली नियुक्तियों में भी आरक्षण नीतीश कैबिनेट ने लगायी मुहर

नाराज युवकों से मिले सीएम
हालांकि भाषण खत्म होने के बाद सीएम ने हाथ हिलाने वाले युवकों को मिलने के लिए बुलाया और 10 मिनट तक युवकों से बात की. इसके बाद युवकों ने कहा कि सीएम नीतीश ने आश्वासन दिया है कि सब समस्या दूर हो जाएगी.

सुशील मोदी- अब हर खेत में बिजली
इससे पहले डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने भी सभा को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि मुझे ख़ुद भी भरोसा नहीं था की बिहार में घर-घर बिजली पहुंचेगी, लेकिन नीतीश कुमार ने घर घर बिजली पहुंचा दी.
अब हर खेत में बिजली पहुंचे इस कोशिश में नीतीश कुमार लगे हुए हैं.

बता दें कि सीएम नीतीश कुमार रात्रि विश्राम वाल्‍मीकि नगर में करेंगे, फिर शनिवार को मधेपुरा, किशनगंज व पूर्णिया जाएंगे. इसके बाद पटना लौटेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here